breaking news New

प्रगतिशील छत्तीसगढ़ सतनामी समाज संघर्ष समिति का गठन

प्रगतिशील छत्तीसगढ़ सतनामी समाज संघर्ष समिति का गठन

रायपुर, 25 नवंबर। प्रगतिशील छत्तीसगढ़ सतनामी समाज द्वारा प्रदेश स्तरीय बैठक प्रदेश मुख्यालय गुरु घासीदास  सांस्कृतिक  भवन  न्यू राजेंद्र नगर स्थित सतनाम भवन में  बैठक आयोजित किया गया जिसमें प्रदेश अध्यक्ष  एल .एल. कोसले एवं प्रदेश महासचिव आर .पी. भतपहरी द्वारा संयुक्त रूप से जानकारी देते हुए बताया कि प्रगतिशील छत्तीसगढ़ सतनामी समाज द्वारा निरंतर विभिन्न समाजिक मुद्दों, समस्याओं के निराकरण के लिए  पत्राचार, ज्ञापनों,  सौजन्य मुलाकात, रैली, प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष जनप्रतिनिधियों  के  द्वारा  समर्थन के माध्यम से शासन से मांग किया जाता रहा है .उपरोक्त सभी प्रयासों के  बावजूद भी समस्याओं के निदान व निराकरण के बावजूद भी शासन का रवैया उपेक्षा पूर्ण है. शासन के इस ठंडे रुख एवं उपेक्षापूर्ण व्यवहार के कारण सतनामी समाज के जायज मांगों को पूर्ण कराने हेतु  प्रगतिशील छत्तीसगढ़ सतनामी समाज द्वारा मिशन मोड में मैदानी स्तर पर संघर्ष करने हेतु संस्था के  बायलॉज  के तहत एक उपसमिति "" प्रगतिशिल छत्तीसगढ़ सतनामी समाज संघर्ष समिति""  का गठन किया गया है। यह संघर्ष समिति ज्वलंत सामाजिक मुद्दों पर  सकेन्द्रित होकर समुचित योजना बनाकर तथा अन्य संगठनों से समन्वय स्थापित कर  मैदानी संघर्ष का आगाज करेगी। संघर्ष समिति के उद्देश्य एवं महत्व को देखते हुए प्रगतिशिल छत्तीसगढ़ सतनामी समाज संघर्ष समिति का  गठन किया गया ।बैठक में संघर्ष समिति के प्रदेश अध्यक्ष संस्था के जाबांज साथी व काफी अनुभवी मोहन बंजारे को सर्वसम्मति से बनाया गया  है ,तथा विजय कुर्रे को प्रदेश महासचिव  व प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य देवलाल भारती, अश्वनी बबलू त्रिवेंद्र एवं  अनिल कुमार बनज को अहम जिममेदारी दी गई है जो संघर्ष समिति का विस्तार करने में भी सहयोग करेंगे। यह संघर्ष समिति  मिशन मोड पर काम करेगी एवं संस्था के  युवा  दल उनके कदम में कदम और कंधे से कंधा मिलाकर  मुद्दों को अंजाम तक पहुचायेंगे । संघर्ष समिति का विस्तार प्रदेश प्रबंध कार्यकारिणी, महिला प्रदेश कार्यकारिणी, युवा प्रकोष्ठ से नाम सुझाने के बाद  किया जायेगा।

 संघर्ष समिति का लक्ष्य   ज्वलंत  सामाजिक मुद्दों पर सकेन्द्रित रहेगा जिसमें प्रमुख रूप से है-

1. जिला बलौदा बाजार भाटापारा का नामकरण गुरु घासीदास जी के नाम पर  कराना । 

2. अविभाजित मध्य प्रदेश की प्रथम महिला सांसद गुरु माता मिनी माता जी के नाम पर वर्तमान  छत्तीसगढ़ विधानसभा का नामकरण  किया गया है अतः  राजधानी नवा रायपुर में नवनिर्मिति किये जा रहे नवीन विधानसभा का नाम यथावत ममतामयी मिनीमाता जी के नाम पर  कराना ।

3. माननीय मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी द्वारा घोषित किए गए आरक्षण वृद्धि का 1% वर्तमान समय 2 वर्ष बीतने के बाद भी लागू नहीं किया गया है उसे विधिवत विधानसभा में 12+1=13% को पारित कराना ।

4. शासकीय कर्मचारियों को पदोन्नति में विधिवत आरक्षण व  समय पर पदोन्नति  प्रदान कराना।

5. गुरु बाबा घासीदास जी के नाम पर प्रदान किये जाने वाले अलंकरण को यथावत राज्योत्सव पर ही  प्रदान करना।

6 निजी क्षेत्रों में विधिवत जनसंख्या के आधार पर आरक्षण नियमों का पालन करते हुए भर्ती कराना।

   इन उपरोक्त मुद्दों को प्रगतिशील छत्तीसगढ़ सतनामी समाज संघर्ष समिति द्वारा अंजाम तक पहुंचाया जायेगा ।

बैठक में प्रदेश भर से प्रदेश प्रबंध कार्यकारिणी सदस्यो सहित सभी  प्रकोष्ठ के प्रदेश ,जिला ,ब्लॉक तथा परिक्षेत्रो के ग्रामीण पदाधिकारी  उपस्थित रहे।