breaking news New

मध्यप्रदेश में कोरोना के 1069 नए मामले, तेरह की मृत्यु

मध्यप्रदेश में कोरोना के 1069 नए मामले, तेरह की मृत्यु

भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण के शिकार 13 मरीजों की आज मृत्यु दर्ज की गयी और 1069 नए मामले सामने आए। राज्य के स्वास्थ्य संचालनालय की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार 28525 सैंपल की जांच में 1069 नए मामले सामने आए और संक्रमण की दर 3़ 7 रही। कुल 13 मरीजों की इलाज के दौरान मृत्यु हाे गयी, जिनमें इंदौर जिले के तीन और भोपाल तथा जबलपुर जिले के दो दो व्यक्ति शामिल हैं। इसके अलावा खरगोन, होशंगाबाद, बालाघाट, मंदसौर, खंडवा और भिंड जिले के एक एक व्यक्ति कोरोना संक्रमण के कारण मौत का शिकार बन गए। राज्य में अब तक कोरोना के कारण 3481 लोगाें की मृत्यु हो चुकी है।

बुलेटिन के अनुसार आज 1069 नए मामले सामने आने के बाद कुल संक्रमितों की संख्या 2,31,284 हाे गयी है। राहत की बात है कि 1274 व्यक्ति संक्रमण मुक्त घोषित किए गए और कोरोना संक्रमण को मात देेने वालों की कुल संख्या 2,16,485 हाे गयी है। वर्तमान में एक्टिव केस 11,318 हैं।

आज फिर इंदौर जिले में सबसे अधिक 395 संक्रमित व्यक्ति मिले और इनका कुल आंकड़ा 51,563 हो गया। इंदौर जिले में अब तक 837 व्यक्तियों की मृत्यु दर्ज की गयी है और 433 मरीजों के स्वस्थ होने के बाद अब तक कुल 46,579 लोग कोरोना संक्रमण को मात दे चुके हैं। वर्तमान में एक्टिव केस की संख्या 4147 हैं, जो राज्य में सबसे अधिक हैं।

भोपाल जिले में 204 नए मामले मिलने के बाद अब तक 37278 कोरोना संक्रमण का शिकार हो चुके हैं। कुल 555 लोगाें की मौत हुयी है और 329 व्यक्तियों के आज स्वस्थ होने के बाद अब तक 34396 व्यक्ति कोरोना वायरस को परास्त करने में सफल रहे। वर्तमान में एक्टिव केस 2327 हैं।

इसके अलावा ग्वालियर में 38, जबलपुर में 33, खरगोन में 28, सागर में 19, उज्जैन में 17, रीवा में 23, सतना में 14, धार में 19 और रतलाम में 18 नए मामले मिले हैं। रायसेन, छतरपुर और आगरमालवा जिले में एक भी नया प्रकरण नहीं आया है। वहीं सक्रिय मामलों में इंदौर और भोपाल के बाद जबलपुर जिला 435 मामलों के साथ राज्य में तीसरे क्रम पर है। ग्वालियर में ऐसे प्रकरणों की संख्या 422, खरगोन में 163 और सागर में 197 हैं। वर्तमान में राज्य के सभी 52 जिलों में कोरोना के सक्रिय मामले हैं।

वैश्विक महामारी कोरोना का पहला मामला राज्य में नौ माह पहले जबलपुर जिले में 20 मार्च को सामने आया था।