breaking news New

छत्तीसगढ़ में नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में नक्सलियों पर कोरोना का कहर । बीते कुछ दिनों में यहां 10 से ज्यादा नक्सलियों ने इस महामारी से दम तोड़ा

छत्तीसगढ़ में नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में नक्सलियों पर कोरोना का कहर । बीते कुछ दिनों में यहां 10 से ज्यादा नक्सलियों ने इस महामारी से दम तोड़ा


दंतेवाड़ाl छत्तीसगढ़ में नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में नक्सलियों पर कोरोना का कहर । बीते कुछ दिनों में यहां 10 से ज्यादा नक्सलियों ने इस महामारी से दम तोड़ा है। नक्सल प्रभावित इलाकों में रहने वाले ग्रामीणों से सूचना आ रही है कि इनमें से 8 के शव को नक्सलियों ने जंगल में ही जलाएने की जानकारी भी सुरक्षा एजेंसियों को मिली है।


दंतेवाड़ा एसपी डॉक्टर अभिषेक पल्लव का का कहना है कि जिन नक्सलियों की मौत हुई है, वे दक्षिण बस्तर इलाके के हैं। उनके नामों के बारे में पता किया जा रहा है। पल्लव का दावा है कि सुकमा में तो नक्सलियों ने संक्रमण से लड़ने के लिए वैक्सीन और दवाएं भी मंगवाई हैं। हमारी अपील है कि जो नक्सली बीमार हैं, वे आकर सरेंडर करें। पुलिस इलाज कराएगी।


दवाइयां और वैक्सीन लूटने में जुटे नक्सली

दंतेवाड़ा पुलिस को सूचना मिली है कि कोरोना और फूड पॉइजनिंग अब नक्सलियों के सामने बड़ी मुसीबत बन रही है। जिन नक्सलियों की मौत हुई है, उनमें कुछ बड़े कैडर के बताए जा रहे हैं।पुलिस को यह जानकारी भी मिली है कि कुछ दिन पहले कोंटा और दोरनापाल इलाके में नक्सलियों ने कोरोना वैक्सीन और दवाइयां लूटी थीं।

पुलिस की माने तो महीने भर में जितने भी इन काउंटर किए गए हैं उसमें मछलियों के हमसे दवाइयों का बड़ा जखीरा मिला है.

दो दिन पहले नक्सली लीडर सहित 100 से ज्यादा के बीमार होने की खबर आई थी ,इनमें 25 लाख रुपए की इनामी सुजाता, जयलाल और दिनेश भी शामिल हैं। अकेले दक्षिण बस्तर में ही दंतेवाड़ा, बीजापुर और सुकमा जिले आते हैं। इन इलाकों में सरकार ने भी आंध्र प्रदेश स्ट्रेन को लेकर अलर्ट जारी किया है। अफसरों ने भी नक्सलियों के उसी स्ट्रेन से संक्रमित होने की आशंका जताई है।