breaking news New

धान खरीदी केन्द्रों में सुनिश्चित करें कोविड एप्रोप्रीएट बेहवियर का पालन

धान खरीदी केन्द्रों में सुनिश्चित करें कोविड एप्रोप्रीएट बेहवियर का पालन

सुकमा । छत्तीसगढ़ शासन द्वारा एक दिसम्बर 2020 से धान खरीदी शुरू हो गया है। कलेक्टर  विनीत नंदनवार ने शासन के इस को जिले में सफल बनाने के लिए समस्त धान खरीदी केन्द्रों में कोविड एप्रोप्रीएट बेहवियर के पालन को सुनिश्चित करने हेतु निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस का संक्रमण अभी पूर्णत: समाप्त नहीं हुआ है, ऐसे में शासन द्वारा जारी की गई दिशा निर्देशों का पालन आवश्यक है। उन्होंने समस्त केंद्रों में आवश्यक व्यवस्थाओं सहित कोविड की रोकथाम हेतु दिशा निर्देश के बैनर लगवाने, उपस्थित लोगों के बीच उचित दूरी बनाए रखने एवं मास्क तथा सैनिटाइजर की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

मंगलवार को कलेक्टर सभाकक्ष में आयोजित समय सीमा बैठक में कलेक्टर श्री विनीत नंदनवार ने समस्त विभागों से साप्ताहिक जानकारी लेते हुए प्रगतिरत कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने धान खरीदी के लिए की जा रही तैयारियों की समीक्षा करते हुए कहा कि सभी केंद्रों में कोविड नियमों का पालन करते हुए धान खरीदी की जाए जिससे किसानों को कोई परेशानी ना हो। सभी ग्राम पंचायतों में सचिवों के माध्यम से कृषकों को धान संग्रहण के लिए प्रोत्साहित करने के निर्देश दिए ताकि शासन द्वारा तय की गई समय सीमा के भीतर जिले में धान संग्रहण का कार्य पूर्ण किया जा सके। इसके साथ ही उन्होंने मीलर्स के क्षमता अनुसार शीघ्र धान उठाव सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

गादीरास तहसील को शीघ्र बनाएं कार्यशील

नंदनवार ने सुकमा जिले के नव निर्मित तहसील गादीरास को शीघ्र ही पूर्णत: कार्यशील बनाने के निर्देश दिए। जिससे स्थानीय लोगों को भूमि से संबंधित कार्यों जैसे सीमांकन, नामांतरण, बंटवारा सहित अन्य तहसील सम्बन्धी कार्यों की सुविधा जल्द उपलब्ध हो सके। इसके साथ ही उन्होंने गादीरास से लगे हुए क्षेत्रों में सडक़ों एवं पहुंच मार्गों सहित अन्य मूलभूत सुविधाएं की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने कोंडासांवली एवं कम्हालगुड़ा में विद्युतीकरण, स्कूल संचालन, सावस्थ्य सेवाओं की शुरुआत करने की बात कही।

विभागीय कार्यों की समीक्षा के दौरान दिए आवश्यक निर्देश

कलेक्टर नंदनवार ने बैठक में विभागीय कार्यों की साप्ताहिक प्रगति की जानकारी लेते हुए समीक्षा की। उन्होंने जिले में मलेरिया की रोकथाम हेतु निर्माणधीन शासकीय भवनों में जालियां लगाने के निर्देश दिए। श्री नंदनवार ने जिले के 34 ग्राम पंचायतों में बच्चों को कुपोषण से मुक्त करने हेतु महिला एवं बाल विकास, स्वास्थ्य, उद्यानिकी तथा पशु पालन विभाग के अधिकारियों को सामूहिक रूप से कार्य करने के निर्देश दिए। साथ ही कुपोषित बच्चों के परिवारों को अन्य विभागों से सहायता प्रदाय करने पर जोर दिया, जिससे वे उपचार पश्चात भी बच्चों को पौष्टिक आहार उपलब्ध करा सके और कुपोषण से हमेशा के लिए निजात मिलने में सहायक हो। श्री नंदनवार ने कृषि विभाग, विद्युत विभाग, क्रेडा विभाग, समाज कल्याण विभाग, जल संसाधन विभाग, राजस्व विभाग सहित सभी विभागों की जानकारी ली एवं आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

गुणवत्ताहीन निर्माण कार्यों के प्रति जताई नाराजगी

जिले में निर्मित शासकीय भवनों जैसे आंगनबाडिय़ों, स्कूल, धान चबूतरा, सामुदायिक शौचालयों, प्रधानमंत्री आवास की गुणवत्ताहीन निर्माण पर श्री नंदनवार ने नाराजगी जताई। उन्होंने ग्रामीण यांत्रिकी विभाग के अधिकारियों पर नाराजगी जाहिर करते हुए वर्तमान तथा भविष्य में निर्माण होने वाले संरचनाओं में पूर्ण गुणवत्ता के साथ कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि शासकीय भवन शासन एवं प्रशासन की छवि स्वरूप है, जिनसे शासकीय कार्यप्रणाली का अंदाजा लगाया जाता है। इसके साथ ही उन्होंने प्रगतिरत निर्माण कार्यों को तय सीमा के भीतर पूरी गुणवत्ता से पूर्ण करने के निर्देश दिए।