breaking news New

पर्यावरणविद् सुंदरलाल बहुगुणा का एम्स-ऋषिकेश में कोविड से निधन

पर्यावरणविद् सुंदरलाल बहुगुणा का एम्स-ऋषिकेश में कोविड से निधन


पर्यावरणविद और चिपको आंदोलन के अग्रदूत सुंदरलाल बहुगुणा का शुक्रवार को यहां अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में कई दिनों तक कोविड -19 से जूझने के बाद निधन हो गया। वह 94 वर्ष के थे। एम्स के निदेशक रविकांत ने कहा कि उन्होंने दोपहर 12.05 बजे अंतिम सांस ली।

भारत के सबसे प्रसिद्ध पर्यावरणविदों में से एक बहुगुणा को 8 मई को कोविड के लिए सकारात्मक परीक्षण के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वह कल रात से ही गंभीर थे क्योंकि उनका ऑक्सीजन का स्तर काफी गिर गया था।

वह प्रीमियर अस्पताल के आईसीयू में सीपीएपी थेरेपी पर थे। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने निधन पर शोक व्यक्त करते हुए इसे न केवल उत्तराखंड और भारत के लिए बल्कि पूरी दुनिया के लिए एक बड़ी क्षति बताया। रावत ने कहा, "उन्होंने ही चिपको आंदोलन को जनता का आंदोलन बनाया था।"