breaking news New

अमृत मिशन योजना को लेकर निगम एवं ठेकेदार की कोई तैयारी नहीं - जैनम बैद

अमृत मिशन योजना को लेकर निगम एवं ठेकेदार की कोई तैयारी नहीं - जैनम बैद

 राजनांदगांव । नगर पालिक निगम के अधीनस्थ अमृत मिशन योजना केंद्र सरकार की महत्वकांक्षी योजना में अनेकों अनियमितता के कारण अमृत मिशन योजना में जमकर भ्रष्टाचार होने के कारण अमृत मिशन के ठेकेदार की लापरवाही के चलते अनेकों वार्डों में पाइप लाइन बिछाई का कार्य पूरा हो जाने के बाद गड्ढों को सीमेंट से भरा ही नहीं जा रहा है, जिसके कारण राहगीरों को आवागमन में भारी परेशानी हो रहे हैं,

भाजपा के व्यापारी प्रकोष्ठ के दक्षिण मंडल संयोजक जैनम बैद प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि अमृत मिशन केंद्र सरकार की महत्वकांक्षी योजना में सही क्रियावन नहीं होने के कारण अमृत मिशन योजना में अनेकों खामियां देखने को मिल रहे हैं, कई वार्डों में आज भी पाइप लाइन विस्तार होने के बावजूद भी पर्याप्त मात्रा में लोगों को पानी नहीं मिल रहे हैं, तथा पाइपलाइन का कार्य हो जाने के बाद ठेकेदार पानी क्यों नहीं आ रहे हैं, यह देखने के लिए फुर्सत भी नहीं है, पाइपलाइन बिछाने के लिए जो वार्डों में गड्ढा किए गए हैं, उसे पाइपलाइन बिछाने के बाद गड्ढों को सीमेंट से भी नहीं भरे गए हैं, संबंधित इंजीनियर ही ठेकेदार को खामियां को बताने में हाथ पैर फूल रहे हैं, रास्तो में दिनदहाड़े गड्ढे किए जा रहे है, जिससे चार पहिया वाहन का आवागमन हो रहा है, जिससे ट्रैफ़िक का भी एक बड़ा सामना व्यापारियों को करना पड़ रहा है, इस कारण व्यापार में काफी गिरावट हो रहा है,

जिस रोड में कार्य चल रहा है, वहां कोई बेरिकटिंग नहीं है, व्यापारियों के दुकान के सामने रास्तों पर गड्ढे करके छोड़ दिया जा रहा है, जिसकी वजह से ग्राहक पार्किंग व्यवस्था नहीं होने के कारण दुकान तक नहीं पहुंच रहे हैं, जिसका नुकसान व्यापारियों को हो रहा है, क्योंकि इस माह अनेकों त्यौहार पड़ा रहा है, त्यौहार को लेकर व्यापारी ग्राहकों से खरीदारी की अच्छी उम्मीद लगाते हैं, लेकिन अमृत मिशन योजना को लेकर निगम एवं ठेकेदारों की कोई तैयारी नहीं होने की वजह से व्यापारियों को काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है, अमृत मिशन योजना के ठेकेदार के द्वारा वार्डो व शहरों में दिन में कार्य किया जा रहा है, इसी प्रकार नगर पालिक निगम के द्वारा भी अमृत मिशन योजना का सही लाभ लोगों को नहीं मिल पा रहा है,

जबकि यह योजना केंद्र सरकार के द्वारा हर घर में शुद्ध पानी पहुंचाना है, केंद्र की मोदी सरकार के द्वारा यह योजना लोगों के लिए लाया गया है, लेकिन लगता है यह योजना छत्तीसगढ़ राज्य में दम तोड़ती नजर आ रही है, शहर में सभी 51 वार्डों में अमृत मिशन योजना का काम किया जा रहा है, लेकिन निगम व निगम कर्मचारियों की लापरवाही के कारण ठेकेदार भी मनमानी कर रहे हैं जिससे लेकर लोगों में काफी आक्रोश पैदा हो रहा है, इसके बाद भी अमृत मिशन योजना में सुधार नहीं होता है, तो आने वाले समय में भाजपा के व्यापार प्रकोष्ठ के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं के द्वारा आंदोलन का रुख तैयार करेंगे।