breaking news New

बंगाल में राष्ट्रपति शासन लागू हो, चुनाव नतीजों के बाद राज्य में लगातार बढ़ रही हिंसा के लिए तृणमूल कांग्रेस ज़िम्मेदार

बंगाल में राष्ट्रपति शासन लागू हो, चुनाव नतीजों के बाद राज्य में लगातार बढ़ रही हिंसा के लिए तृणमूल कांग्रेस ज़िम्मेदार

नयी दिल्ली।  भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने पश्चिम बंगाल में चुनाव नतीजों के बाद लगातार बढ़ रही हिंसा के लिए तृणमूल कांग्रेस को ज़िम्मेदार ठहराते हुए राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की माँग की है।

भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा ने मंगलवार को यहाँ एक आभासी संवाददाता सम्मेलन में कहा,“ चुनावों में तृणमूल कांग्रेस की जीत के बाद से हम जिस प्रकार का मंजर पश्चिम बंगाल में देख रहे हैं, उस पर विश्वास नहीं हो रहा है। पश्चिम बंगाल आज जल रहा है। हमारे कार्यकर्ता हर पल हमारे नेताओं को फोन कर रहे हैं और उनकी एक ही गुहार है हमें बचा लो।”

उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में जो कुछ हो रहा है वो प्रशासन द्वारा प्रायोजित हिंसा है जिसके लिए तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ज़िम्मेदार हैं।

श्री पात्रा ने कहा,“भाजपा पश्चिम बंगाल में मुख्य विपक्षी पार्टी है और हम ये प्रतिज्ञा करते हैं कि हम अपने कार्यकर्ताओं और उन 2.28 करोड़ बंगालियों जिन्होंने हमारी नीति और विचार के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दिखाई उनके साथ खड़े होंगे।”

उन्होंने कहा,“हम भाजपा कार्यकर्ताओं, जिन लोगों ने हमें वोट दिया और जिन लोगों ने वोट नहीं भी दिया, उन सभी को आश्वस्त करना चाहते हैं कि आप निश्चिंत रहिए। हम केंद्र सरकार में हैं और लोकतंत्र पर विश्वास रखने वाली पार्टी है, आपके ऊपर आंच नहीं आएगी। हम आपके साथ खड़े रहेंगे।”

भाजपा प्रवक्ता ने कहा,“ भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा खुद पश्चिम बंगाल जा रहे हैं और वह खुद जायजा लेंगे, कार्यकर्ताओं से मिलेंगे, जिन लोगों की जान माल की हानि हुई है उनके साथ समय बिताएंगे। एक एक विषय पर वह खुद रिपोर्ट तैयार करेंगे। जब पार्टी का मुखिया स्वंय खड़ा हो तो इससे विश्वास पैदा होता है। किसी भी कीमत पर हम लोग सत्य की राह से नहीं हटेंगे।”

उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा के खिलाफ भाजपा ने पांच मई, बुधवार को देशव्यापी धरना-प्रदर्शन करने का निर्णय लिया है।

उल्लेखनीय है कि पश्चिम बंगाल में चुनाव परिणाम आने के 24 घंटे के भाजपा के कई कार्यकर्ताओं की कथित रूप से हत्या कर दी गई है। भाजपा का दावा है कि अब तक नौ कार्यकर्ता मारे जा चुके हैं। कई कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल हैं। पार्टी के कई कार्यकर्ताओं के घर और दुकान के साथ कई जगहों पर पार्टी कार्यालय भी जला दिए गए हैं।