breaking news New

जनहित मुद्दों को लेकर जनता कांग्रेस व अधिकार मुक्ति मोर्चा की दहाड़ से गूंजा बस्तर, 15 सूत्री मांगों को लेकर कलेक्ट्रेट का किया विशाल घेराव

जनहित मुद्दों को लेकर जनता कांग्रेस व अधिकार मुक्ति मोर्चा की दहाड़ से गूंजा बस्तर, 15 सूत्री मांगों को लेकर कलेक्ट्रेट का किया विशाल घेराव

जगदलपुर। जनता कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी के नेतृत्व एवं बस्तर में गांव से शहर और पगडंडियों से शहर के चौराहों तक जनहित मुद्दों को लेकर लगातार सक्रिय बस्तर छत्तीसगढ़ मुक्ति मोर्चा के मुख्य संयोजक नवनीत चांद के अध्यक्षता में बस्तर के जनहित 15 सूत्री मांगों को लेकर पार्टी एवं मुक्तिमोर्चा के सैकड़ों कार्यकर्ता पदाधिकारियों के साथ बस्तर के अलग अलग जगहों से आये लोगों ने पूरे जोश खरोश के साथ कलेक्टर कार्यालय का आज घेराव किया और अपनी मांगों को रखा। 

ज्ञात हो कि पूर्व घोषित इस घेराव कार्यक्रम को लेकर जनता कांग्रेस एवं मुक्ति मोर्चा के कार्यकर्ताओं सहित नेताओं पदाधिकारियों में जबरदस्त उत्साह देखने को मिल रहा था।  एक दिन पहले ही मंडी प्रांगण से लेकर  चांदनी चौक एवं अन्य मार्ग सहित शहर के कलेक्ट्रेट मार्ग में जिन मुद्दों को लेकर घेराव किया गया।  उसे लेकर बनाए गए होर्डिंग्स एवं पोस्टर लगाए गए थे निर्धारित कार्यक्रम को लेकर कलेक्ट्रेट घेराव से पहले मंडी प्रांगण चांदनी चौक सेंट जेवियर के पास सैकड़ों की संख्या में जगदलपुर सहित अलग-अलग गांव ब्लॉक ,जोन से कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी पहुंचे। जहां जनता कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी के पहुचने पर उनका भव्य स्वागत किया गया । पश्चात अमित जोगी उपस्थित लोगों को संबोधित किया। 


अपने संबोधन में अमित जोगी ने तालियों के गड़गड़ाहट के बीच बस्तर के मिट्टी के लिए खुद को न्यौछावर करने वाले शहीदों के लिये भव्य स्मारक बनने के कई महत्वपूर्ण बातें कही। उन्होंने मंच से छत्तीसगढ़ भूपेश सरकार को भी आड़े हाथ लेते हुए कहा कि उत्तप्रदेश के लखीमपुर हत्या में यहां के मुखिया वहां के किसानों को 50-50 लाख छत्तीसगढ़ के खजाने से देते है परंतु सुकमा में आदिवासियों की हत्या होती है तो 50 लाख क्या 50 पैसै नही मिलते। 

अमित जोगी ने बैलाडीला से लोहा निकल विशाखापटनम जाने के बदले बस्तर के लोगो की उपेक्षा की बात के साथ ।बेरोजगारी भत्ता के लिए हस्ताक्षर अभियान चलाए जाने की बात भी कही वहीँ मंच से  कहा कि छत्तीसगढ़ के किसानो 3200 सौ रूपया समर्थन मूल्य देना होगा।  वही मुक्ति मोर्चा के मुख्य संयोजक एवं छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के युवा नेता नवनीत चांद ने भी भारी संख्या में उपस्थित पार्टी सहित मुक्ति मोर्चा के कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों को संबोधित किया नवनीत चांद ने 15 सूत्री मांगों को  पुरज़ोर रूप से सभी के समक्ष रखा और बस्तर हित और मुद्दों के निदान के लिए सभी को  साथ मिलकर  सामने आने की बात कही। इस बीच मुक्तिमोर्चा जिन्दाबाद के साथ जनता कांग्रेस जिंदाबाद के साथ जय बस्तर व दंतेश्वरी माई के जय-जयकारे भी लगते रहे। घेराव से पहले पहुंचे अन्य नेताओं ने भी बस्तर भर से आये लोगों को संबोधित किया।

यह है 15 सूत्री मांग :-

मांगों में जब जगतू  महारा की मूर्ति स्थापित करने सहित बस्तर संभाग के मुख्यालय जगदलपुर को उपराजधानी बनाने ,हाईकोर्ट के खंडपीठ की स्थापना की मांग, बेमौसम बारिश के चलते किसानों की फसल को लेकर हुए नुकसान का मुआवजा देने सहित खराब धान खरीदी की मांग,  डीएमएफटी एवं सीएसआर बस्तर विकास की राशि जिले के निवासियों के आवश्यकताओं के प्राथमिकता के आधार पर खर्च करने एवं प्रतिवर्ष जनहित में राशि स्वीकृत आदेश ऑडिट रिपोर्ट को सार्वजनिक करने की मांग। 

मेडिकल कॉलेज में व्याप्त अव्यवस्था के निराकरण   उपकरण खरीदने एवं रिक्त पदों पर भर्ती की मांग ,जिले एवं ब्लॉक स्तर के अस्पतालों में व्याप्त अव्यवस्थाओं के निराकरण जरूरी सुविधाओं की स्थापना एवं अति आवश्यक रिक्त पदों पर भर्ती की मांग , जिले के सभी सरकारी एकल शिक्षक स्कूलों में शिक्षा की अव्यवस्था विभिन्न विभागों में शिक्षकों के अटैचमेंट आदेश को निरस्त कर रिक्त पदों पर भर्ती की मांग, बस्तर संभाग में कार्यरत समस्त …