breaking news New

जल संसाधन विभाग में 400 उपअभियंताओं की होगी भर्ती , छग वित्त विभाग ने दी स्वीकृति

 जल संसाधन विभाग में 400 उपअभियंताओं की होगी भर्ती , छग वित्त विभाग ने दी स्वीकृति

रायपुर । छग जल संसाधन विभाग में 400 उपअभियंताओं की भर्ती के लिए छग वित्त विभाग ने स्वीकृति दी है। सचिवालय से मिली जानकारी के अनुसार जल संसाधन विभाग में उप अभियंताओं के 1303 स्वीकृत पद हैं, जिसमें वर्तमान में 554 उपअभियंता कार्यरत हैं।

स्वीकृत पदों के विरूद्ध विभाग ने 800 उपअभियंताओं की भर्ती की अनुमति मांगी थी, किंतु वित्त विभाग द्वारा केवल 400 पदों की भर्ती हेतु स्वीकृति प्रदान की गई है। भर्ती प्रक्रिया छग व्यावसायिक परीक्षा मंडल के माध्यम से की जाएगी। पूरी परीक्षा प्रक्रिया में अधिकतम 4 महिने लगेंगे एवं 6 माह के भीतर नियुक्ति पत्र प्रदान कर दिए जाने की जानकारी मिली है।

बलरामपुर जनपद पंचायत बलरामपुर के 15 जनपद सदस्यों के द्वारा अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव लाने के बाद आज काफी गहमागहमी के बीच मतदान प्रक्रिया जनपद अध्यक्ष के लिए दोपहर 12 बजे से प्रारंभ हुई वही परिणाम दोपहर 2:30 बजे घोषित किए गए वही जनपद उपाध्यक्ष के लिए मतदान प्रक्रिया 3: बजे प्रारंभ हुई वही परिणाम 3:45 बजे घोषित किए गए।

जनपद अध्यक्ष विनय पैकरा 9 मत से अपना कुर्सी बचाने में सफल हुए वही जनपद उपाध्यक्ष भानु प्रकाश दीक्षित 10 मत प्राप्त कर अपने पद पर बने रहेंगे। गहमागहमी को देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस बल पूरे मतदान प्रक्रिया के दौरान तैनात रही।

गौरतलब है कि जनपद पंचायत बलरामपुर में कांग्रेस समर्थित 3 जनपद सदस्य है वही भाजपा समर्थित 15 जनपद सदस्य है जिसके बाद यहां जनपद अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष भाजपा समर्थित बने थे परंतु 15 जनपद सदस्यों के द्वारा अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव लगाए जाने के बाद राजनीति गरमा गई थी। जहां भाजपा नेताओं के द्वारा धन एवं प्रलोभन देने का आरोप सत्ताधारी दल के लोगों पर लगाया गया था वही अविश्वास प्रस्ताव के बाद भाजपा जिला अध्यक्ष को पूरे घटनाक्रम से अवगत कराने के लिए विशाल रैली भी निकालकर बागी जनपद सदस्यों का विरोध भी किया गया था।

वही आज जनपद कार्यालय में काफी गहमागहमी के बीच चुनाव प्रक्रिया संपन्न हुई। दोपहर 12:00 बजे जनपद अध्यक्ष के लिए वोटिंग हुई वहीं दोपहर 3:00 बजे जनपद उपाध्यक्ष के लिए वोटिंग हुई जिसमें जनपद अध्यक्ष के लिए विनय पैकरा को 9 मत एवं उपाध्यक्ष भानु प्रकाश दीक्षित को 10 मत प्राप्त हुए जिससे दोनों अपनी सीट बचाने में कामयाब हुए। अपनी जीत के बाद जनपद अध्यक्ष विनय पैकरा एवं उपाध्यक्ष भानु प्रकाश दीक्षित ने कहा कि धन बल प्रलोभन की हार हुई वही लोकतंत्र की जीत हुई। स्थानीय विधायक के प्रति आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि क्षेत्र के लोग ऐसी गंदी राजनीति बर्दाश्त नहीं करेंगे यह सभी ने बता दिया। सांसद प्रतिनिधि धीरज सिंह देव ने कहा कि सच्चाई की जीत हुई। भाजपा समर्थित जनपद सदस्यों को खरीदने प्रलोभन देने का पूरा प्रयास किया गया परंतु इसमें सफल नहीं हो सके।

मतदान के 5 मिनट पहले पहुंचे सभी जनपद सदस्य....ज्. जनपद अध्यक्ष के मतदान की प्रक्रिया दोपहर 12:00 बजे से प्रारंभ होनी थी जिसके लिए सभी जनपद सदस्य ठीक 5 मिनट पहले काफिला के साथ पहुंचे। जनपद सदस्यों के जनपद कार्यालय पहुंचते ही राजनीति गरमा गई थी एवं वहां गहमागहमी का माहौल उत्पन्न हो गया था।

परिणाम की भनक लगते ही होने लगी जमकर नारेबाजी...... जनपद कार्यालय के एक ओर बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता डटे थे जैसे ही उन्हें परिणाम की भनक लगी तो जमकर नारेबाजी प्रारंभ हो गई एवं जैसे ही परिणाम घोषित हुए सभी भाजपा कर्यकर्ता झूम उठे एवं आतिशबाजी भी हुई।

एक और भाजपा समर्थित तो दूसरी ओर कांग्रेस समर्थित डटे रहे....... जनपद कार्यालय के सड़क में एक ओर जहां कांग्रेस समर्थित सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता तो दूसरी ओर भाजपा समर्थित सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता मतदान प्रक्रिया संपन्न होने तक डटे रहे वहीं बीच में दोनों और पुलिस के द्वारा बेरी गेट लगा दिया गया था वही मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल भी तैनात कर दिया गया था।