breaking news New

धान के अवैध परिवहन पर विशेष निगरानी के दिए निर्देश

धान के अवैध परिवहन पर विशेष निगरानी के दिए निर्देश


जगदलपुर।  संभागायुक्त  जीआर चुरेन्द्र ने गुरुवार को देर शाम ओड़ीसा राज्य की सीमा पर धान के अवैध परिवहन पर रोकथाम के लिए बनाए गए जांच नाका का निरीक्षण किया और जांच नाकों में तैनात कर्मचारियों को पूरी मुस्तैदी के साथ कार्य करने के निर्देश दिए।

उल्लेखनीय है कि प्रदेश सरकार द्वारा एक दिसंबर से समितियों के माध्यम से न्यनूतम समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की शुरुआत की जा चुकी है तथा छत्तीसगढ़ में धान खरीदी की अच्छी व्यवस्था के साथ ही किसानों को मिलने वाली अधिक मूल्य के कारण पड़ोसी राज्य में उत्पादित धान को खपाने का प्रयास भी किया जाता है।

मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल के निर्देश पर धान खरीदी के दौरान होने वाली गड़बड़ियों को रोकने के लिए विभिन्न स्तर पर निगरानी की व्यवस्था करने के साथ ही वरिष्ठ अधिकारी भी निरंतर मैदानी क्षेत्रों का भ्रमण कर रहे हैं।

गुरूवार को संभागायुक्त जीआर चुरेंद्र ने विकासखंड बकावंड के छोटे देवड़ा और करीतगांव के धान उपार्जन केंद्र का निरीक्षण किए। साथ ही अंतर्राज्यीय जांच नाका तारापुर का निरीक्षण कर चेकपोस्ट में तैनात कर्मचारियों को पूरी मुस्तैदी के साथ कार्य करते हुए धान के अवैध परिवहन पर कड़ी कार्यवाही के निर्देश दिए। इस अवसर पर संयुक्त पंजीयक एलएल बंृझ, सहकारी केंद्रीय बैंक के मुख्य कार्यपालन अधिकारी आरए खान सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

कमिश्नर  चुरेंद्र ने धान खरीदी केंद्रों के प्रभारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि शासन द्वारा जारी दिशा-निर्देश का पालन करते हुए धान खरीदी की कार्यवाही सुनिश्चित करें। धान खरीदी केन्द्र-उपार्जन केन्द्र में खरीदी के लिए बनाए गए नोडल अधिकारी एवं विक्रय समिति के सदस्यों द्वारा प्रतिदिन समिति में आकर व्यवस्थाओं का आकलन करें। यदि किसी प्रकार की असुविधा पाए जाने पर इसकी सूचना अनुविभागीय अधिकारी को दें।


ऐसे व्यक्ति जो धान खरीदी केन्द्र में बार-बार दिखाई दे या किसानों को धान विक्रय में प्रभावित करने का प्रयास करे तो समिति प्रबंधक के माध्यम से क्षेत्र के नायब तहसीलदार को सूचित करें। धान खरीदी केन्द्रों में जिन किसानों का धान क्रय करने के लिए पंजीकृत किसानों का ही टोकन जारी किया जाए। धान खरीदी केन्द्र में चबूतरे पर भूसे का लेयर बिछा कर धान के बारदानों को रखवाया जाए। धान खरीदी केन्द्रों में श्रमदान के माध्यम से गोबर से लिपाई कराकर साफ-सुथरा रखने निर्देशित किया है।