breaking news New

नया रायपुर में बनेगा "कबीर शोध संस्थान एवं सेवा केंद्र"

नया रायपुर में बनेगा


" सदगुरु कबीर विश्व शांति मिशन"  छत्तीसगढ़ कबीर पंथ संत संगठन के प्रबंध कारिणी प्रतिनिधि मंडल ने विधानसभा अध्यक्ष से की मुलाकात

रायपुर, 7 फरवरी। सदगुरु कबीर विश्व शांति मिशन द्वारा नया रायपुर में कबीर शोध संस्थान बनाने 11 एकड़ जमीन की मांग की गई है जिसमें सद्गुरु कबीर पर शोध के अतिरिक्त विभिन्न केंद्र संचालित होगा जैसे बाल संस्कार विद्यालय गुरुकुल, निर्धन चिकित्सालय, वाचनालय एवं ग्रंथालाय, ध्यान योग केंद्र तथा मिशन का मुख्यालय आदि।

छत्तीसगढ़ की कुल आबादी में से 20 % की आबादी में कबीर अनुयायि है जिसमें पारख सिद्धांत, दामाखेड़ा, खरसिया, नादिया, बड़हरा, बाराबंकी, जागु भागु सूरतीगोपाल एवं अन्य विभिन्न प्रमुख संस्थानों से केंद्रित 150 से भी अधिक कबीर आश्रम संचालित है जहां से संत महापुरुष छत्तीसगढ़ के जन-जन को मानवता का संदेश देते हैं। सभी के मुख्य में सदगुरु कबीर है सबको जोड़ कर "सदगुरु कबीर विश्व शांति मिशन संगठन" का निर्माण किया गया है। छत्तीसगढ़ को संतों का खान कहा जाता है।


सदगुरु कबीर मानवीय एकता व शास्वत शांती के उद्घोषक थे। जिन्होंने जातिवाद, संप्रदायवाद, धार्मिक पाखंड, छुआछूत, अंधविश्वास, सामाजिक कुरीतियां, भाव को मिटाकर, प्रेम का संदेश दिया_ पोथी पढ़ पढ़ जग मुआ, पंडित भया न कोय । ढाई आखर प्रेम का पढ़े सो पंडित होय।।

अध्यात्मा का गहरा विश्लेषण कर  समाज को शांति का संदेश दिया । जिनका मूल मंत्र है

" जीव दया और आतम पूजा, कहहि कबीर धर्म नहीं दूजा ।।

कबीर की वाणी विश्व विख्यात है जिनकी प्रमाणिक रचना बीजक है। इसके साथ कबीर दोहावली, कबीर भजनावली अनुरागसागर आदि विभिन्न ग्रंथों में सदगुरु कबीर साहेब की वाणी समाहित है। जिनके शब्द, साखी, दोहा रमैनी, कहरा, चाचर, बेली, ज्ञान चौतीसा आदि।

सतगुरु कबीर विश्व शांति मिशन द्वारा जनहित में विभिन्न सेवा का कार्य संचालित होता है।

प्रतिनिधिमंडल में संत रविकर साहेब धमतरी, संत घनश्याम साहेब मंदरौद संत देवेंद्र साहेब करहीभदर, संत बलवान साहेब ढेटा, संत विजय साहेब सेंचुवा, संत हेमेंद्र साहब नवापारा, रामेश्वर साहब धमतरी, संत रतन साहिब डौंडीलोहारा, संत पुरुषोत्तम  साहेब संत शोधकर साहब, साध्वी राधा, आदि उपस्थित रहे।