breaking news New

चंडीगढ़ पहुंचा रायपुर नगर निगम का पार्षद दल

 चंडीगढ़ पहुंचा रायपुर नगर निगम का पार्षद दल

रायपुर। रायपुर नगर निगम के पार्षद और अधिकारी आज चंडीगढ़ पहुँच रहे हैं। पार्षदों और अधिकारियों का यह दल इंदौर का दौरा कर चुके हैं। उनके छह दिवसीय इस अध्ययन दौरे पर छत्तीसगढ़ सरकार ने 40 लाख रुपये का खर्चा पास किया है। जबकि चंडीगढ़ नगर निगम उनके स्वागत और रहने खाने पीने पर 12 लाख रुपये का खर्चा कर रहा है, जिसमें सबसे ज्यादा खर्चा डिनर का है।

चंडीगढ़ नगर निगम ने रायपुर के पार्षदों और अधिकारियों के लिए सेक्टर-10 के माउंट व्यू होटल में डिनर की व्यवस्था की है। रविवार सुबह सबसे पहले चंडीगढ़ नगर निगम कमिश्नर आनिंदिता मित्रा और मेयर सरबजीत कौर इन पार्षदों और अधिकारियों को शहर में चल रहे प्रोजेक्ट्स की प्रेजेंटेशन देंगे।

इसके बाद उन्हें शहर के अलग अलग प्रोजेक्ट्स को स्टडी करने के लिए ले जाया जाएगा। पार्षदों के दल को सेक्टर-16 के रोज गार्डन को भी दिखाया जाएगा। यहां पर बागवानी वेस्ट से बन रही खाद के प्रोजेक्ट को दिखाया जाएगा। इसके साथ ही औद्योगिक क्षेत्र में मलबा प्रोसेस करने वाले प्लांट को दिखाया जाएगा।

मलबा वेस्ट से जो टाइल्स और पेवर ब्लाक बनाए जा रहे हैं उसे भी दिखाया जाएगा। इसके अलावा मार्च में शुरू हुए सेक्टर-17 स्थित इंटिग्रेटेड कमांड कंट्रोल सेंटर को भी दिखाया जाएगा। इस प्रोजेक्ट का उद्घाटन केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने 27 मार्च को किया था।

चंडीगढ़ नगर निगम की तरफ से डड्डूमाजरा के डंपिंग ग्राउंड और गारबेज प्रोसेसिग प्लांट को इन पार्षदों और अधिकारियों को नहीं दिखाया जाएगा। क्योंकि डंपिंग ग्राउंड में कचरे का पहाड़ बना हुआ है और प्लांट भी सिर्फ नाम का ही चल रहा है। प्लांट की मशीनरी खराब पड़ी हुई है, जिसे अपग्रेड करने का नगर निगम ने छह करोड़ रुपये का टेंडर लगाया है।

चंडीगढ़ में रायपुर के महापौर, सभापति, नेता प्रतिपक्ष, एमआइसी सदस्यगण, जोन अध्यक्ष, पार्षद, एल्डरमेन समेत 64 जनप्रतिनिधि पहुँच रहे हैं।  इस टूर में पार्षदों के साथ निगम के सचिव डा. आरके डोंगरे, स्वास्थ्य अधिकारी विजय पांडेय, स्वच्छ भारत मिशन के कार्यपालन अभियंता रघुमणि प्रधान और जोन क्रमांक नौ के कमिश्नर संतोष पांडेय भी शामिल है।