breaking news New

सोज बोल रहे आतंकी भाषा - जम्मू-कश्मीर में बाहरी लोगों को बसाने की केन्द्र सरकार की योजना कभी कामयाब नहीं होगी

सोज बोल रहे आतंकी भाषा - जम्मू-कश्मीर में बाहरी लोगों को बसाने की केन्द्र सरकार की योजना कभी कामयाब नहीं होगी

श्रीनगर।  पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रोफेसर सैफुद्दीन सोज ने बुधवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर में बाहरी लोगों को बसाने की केन्द्र सरकार की योजना कभी कामयाब नहीं होगी और घाटी के लोग इसे नकार देंगे।

प्रोफेसर सोज ने एक वक्तव्य में कहा, “ यदि भारत का राष्ट्रीय विपक्ष जम्मू-कश्मीर के मामले में दखल नहीं देगा। तब लोगों को जम्मू-कश्मीर में अंतरराष्ट्रीय समुदाय के हस्तक्षेप की मांग करने के लिए उकसाया जायेगा। ताकि केन्द्र सरकार की ओर से सामाजिक तथा राजनीतिक ताने-बाने को बिगाड़ने की कोशिश को नाकाम किया जा सके।”

कांग्रेस नेता ने कहा कि केन्द्र सरकार यह नहीं समझती है कि जम्मू-कश्मीर के लोगों ने महाराजा हरि सिंह के भारत के साथ मिलने के फैसले को स्वीकार किया था लेकिन जम्मू-कश्मीर का अन्य राज्यों की तरह भारत में विलय नहीं हुआ था।

प्रोफेसर सोज ने कहा, “ केन्द्र सरकार ने अचानक एकतरफा फैसला लेते हुए जम्मू-कश्मीर के डोमिसाइल कानूनों को निरस्त किया है। यदि केन्द्र इन कानूनों को दोबारा बहाल नहीं करती है तो जम्मू-कश्मीर में इसको लेकर कड़ी प्रतिक्रिया होगी।”

दरअसल, केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने मंगलवार को एक अधिसूचना जारी कर जम्मू-कश्मीर के पुराने 11 कानूनों को निरस्त कर दिया है। इसके साथ ही यहां अब कोई भी भारतीय बिना डोमिसाइल के कृषि भूमि को छोड़कर जमीन खरीद सकता है। कश्मीर की राजनीतिक पार्टियों ने इस अधिसूचना पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए इसे ‘कश्मीर को सेल’ पर लगाने जैसा करार दिया है।