breaking news New

वर्षों पुरानी पक्की सड़क की मांग अधूरी कई बार विभाग में दे चुके आवेदन

वर्षों पुरानी पक्की सड़क की मांग अधूरी कई बार विभाग में दे चुके आवेदन


भानुप्रतापपुर. दुर्गुकोंदल ब्लाक के ग्राम पंचायत बांगाचार के ग्रामीणों द्वारा वर्षों से पक्की सड़क की मांग की जा रही हैं. ग्रामीणों द्वारा कुछ वर्षों पूर्व स्वयं से श्रमदान करके लकड़ी का एक पुल बनाकर आवागमन हेतु वैकल्पिक व्यवस्था बनाई गयी थी. इसके बाद 13 जुलाई 2021 को ग्राम पंचायत की समान्य सभा की बैठक में सर्वसम्मती से प्रस्ताव पारित किया गया और लोक निर्माण विभाग को जल्द सड़क व पुल पुलिया बनाने की मांग हेतु पत्र सौपा गया, किन्तु अब तक इसका कार्य शुरू नहीं हो पाया हैं जिससे ग्रामीणों एवं जनप्रतिनिधियों में रोष व्याप्त हैं. बारिश के दिनों में इस सड़क से गुजरने वाले हजारों ग्रामीणों को भारी समस्या का सामना करना पड़ता हैं.

सरपंच गुलाब राम बघेल ने बताया की दुर्गुकोंदल कोदापाखा मुख्य मार्ग से बांगाचार की दुरी केवल 2.60 किलोमीटर हैं. इस मार्ग पे एक भी पुल पुलिया नहीं हैं. कच्ची सड़क होने के चलते बारिश के दिनों में भारी कीचड हो जाता हैं जिससे अवगमन में दिक्क़ते होती हैं. गांव के पास ही एक बड़े पुल की अवश्यकता हैं, क्योंकि बारिश के दिनों में मार्ग में पानी भर जाता हैं जिससे मार्ग पूरी तरह अवरुद्ध हो जाता हैं. ग्रामीणों द्वारा लकड़ी का पुल बनाया गया हैं और अपनी जान जोखिम में डालकर उससे ही आवागमन करते हैं. लोक निर्माण विभाग को सड़क व पुल पुलिया की मांग हेतु पत्र सौपा गया हैं पर अब तक कार्य शुरू नहीं हुआ हैं.

ग्रामीण सचिवालय आ रही परेशानी 

सचिव राम प्रसाद दुग्गा ने बताया की शासन के आदेशानुसार प्रत्येक सप्ताह के मंगलवार को ग्रामीण सचिवालय आयोजित होता हैं, जिसमें सभी विभागों के अधिकारीयों की उपस्थिति अनिवार्य हैं. पर कई विभाग के अधिकारी कर्मचारियों के नदारद रहने से उनके विभाग से संबंधित  आवेदनों का निराकरण समय पर नहीं हो पता. ग्रामीण विशेष कर पिएचई, विद्युत्, लोकनिर्माण व फारेस्ट विभाग से जुडी समस्याएं लेकर आते हैं पर उनके उपस्थित नहीं होने से समस्या के निराकरण में देरी होती हैं. सचिवालय के बाद इसकी रिपोर्ट उच्च अधिकारियों को भेजी जाती हैं, उसके बावजूद अनुपस्थित विभाग के अधिकारी  कर्मचारी पर कार्यवाही नहीं हो रही हैं.