breaking news New

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डा.रमन सिंह ने अस्पतालों को अनुदान देने के मसले पर सरकार में मतभिन्नता पर कसा तंज

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डा.रमन सिंह ने अस्पतालों को अनुदान देने के मसले पर सरकार में मतभिन्नता पर कसा तंज

रायपुर, 29 जून। भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह ने राज्य के स्वास्थ्य मंत्री टी.एस.सिंहदेव के गांवों में निजी अस्पताल खोलने पर उद्योगो की तरह अनुदान देने की प्रस्तावित नीति पर सार्वजनिक रूप से आपत्ति जताने पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर तंज कसते हुए उन पर अऩुभवहीनता और आत्ममुग्धता का आरोप लगाया है।

डा.सिंह ने आज श्री सिंहदेव के इस मसले पर की गई आपत्ति की समाचार पत्र में छपी खबर को टैग करते हुए ट्वीट कर कहा कि..भूपेश बघेल जी की अनुभवहीनता और आत्ममुग्धता का विरोध तो अब सरकार के ही मंत्री कर रहे है..।गांवों में सरकारी अनुदान पर निजी अस्पताल खोलने के फैसले पर सरकार ही एकमत नही हैं तो फिर इससे स्वास्थ्य क्षेत्र का भला कैसे होगा..।आखिर सच कौन बोल रहा हैं सीएम या स्वास्थ्य मंत्री ?

दरअसल मुख्यमंत्री श्री बघेल ने गांवों में निजी अस्पताल खोलने और अस्पताल निर्माण पर उद्योगो की तर्ज पर अनुदान देने की 10 दिनों के भीतर नीति बनाने का उद्योग विभाग को निर्देश दिया गया है।उऩका मनाना हैं कि इससे गांवों में स्वास्थ्य सुविधा बेहतर बनाने में मदद मिलेंगी।लेकिन उनके इस विचार से स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव कतई सहमत नही है।

श्री सिंहदेव ने पत्रकारों से बातचीत में कल इस प्रस्तावित नीति पर गंभीर सवाल उठाया,और कहा कि यह सुनकर उन्हे हैरानी हुई।इस मसले पर उनसे कोई चर्चा नही की गई।उन्होने कहा कि हमारे पास सरकारी स्वास्थ्य तंत्र है,उसे मजबूत करने में पैसे की व्यवस्था की बात आती है।वहीं हम अगर दूसरी ओर निजी क्षेत्र को पैसा देते है,तो अगर वह निःशुल्क इलाज करेगा तो कोई बात नही है।अनुदान लीजिए और निःशुल्क इलाज करिये।हालांकि ऐसा होगा नही।