breaking news New

छत्तीसगढ़ में बढ़ते कोरोना का प्रकोप चिंता का विषय - तरुणा बेदरकर

छत्तीसगढ़ में बढ़ते कोरोना का प्रकोप चिंता का विषय - तरुणा बेदरकर

 जगदलपुर। भूपेश सरकार की लापरवाही व लचर स्वास्थ व्यवस्था की वजह से छत्तीसगढ़ प्रदेश आज बेहद गम्भीर परिस्थितियों से गुजर रहा है जहां कोरोना पूरी तरह से प्रदेश को अपनी चपेट में ले रखा है ऐसे में हम सभी का कर्तव्य बनता है कि हम सभी अपना व अपने परिवार की हिफाजत का पूरा ध्यान रखते हुए सुरक्षित जीवन जिये ।
         
          तरूणा बेदरकर ने एक बयान जारी कर कहा कि कोरोना का इलाज लॉकड़ौन कतई नही हो सकता , पिछले वर्ष 2020 में लगातार 7 माह तक सम्पूर्ण देश मे लॉकड़ौन किया गया था लेकिन कोरोना को खत्म नही किया जा सका, परंतु सरकार अपनी नाकामी छुपाने दुबारा आम जनता को लॉकड़ौन झेलने मजबूर कर दिया ।  
         भूपेश सरकार को दिल्ली की अरविंद केजरीवाल की सरकार से सीखना चाहिए कि कैसे वहां पर कोरोना महामारी से निपटा गया था , किस तरह ऑक्सीजन की व्यवस्था, एप्प के माध्यम से अस्पतालों में बेड की सख्या, होम आइसोलेशन जैसे व्यवस्था के साथ ऑक्सिमिटर उपलब्ध कराने जैसे जरूरी व्यवस्था को दुरुस्त किया जाने की जरूरत है   
        
  जिला अध्यक्ष तरुणा बेदरकर ने  कहा कि भुपेश सरकार की लापरवाही ने आज हम इस स्तिथि में लाकर खड़े कर दिया है जहाँ सरकारी आकड़ो के हिसाब से रोजाना   मृतकों की संख्या 80 से 90 तक पहुच गई है ।  दिन प्रतिदिन कोरोना पॉजिटिव की संख्या हजारों में पहुच गई है ऐसे में सही इलाज की व्यवस्था भी न कर पाना सरकार को विफल साबित करता है ।  

         आज मरीजो के लिए कोरोना बेड नही मिल पा रहे तो कही मेडिकल ऑक्सीजन की कमी पड रही है और इससे भी भयावह स्तिथि रेमडेसीवीर इंजेक्शन की कालाबाजारी की आशंका हो रही है ।

 वैक्सीन की उपलब्धता को आसान बनाते हुए, वैक्सीन के कमी की समस्या हल किया जाना चाहिए, व छत्तीसगढ़ वासियों को इस गम्भीर अवस्था से बचाना होगा।