breaking news New

शासकीय विद्यालय की तरह निजी विद्यालय के भी जायज हितों के लिए में सदैव तत्पर हूं : बी एल खरे

  शासकीय विद्यालय की तरह निजी विद्यालय के भी  जायज हितों के लिए में सदैव तत्पर हूं :  बी एल खरे

सक्ती।  शासकीय विद्यालय की तरह अशासकीय विद्यालय भी मेरे दायित्वाधीन परिवार के सदस्य हैं जिनके जायज हितों के लिए में सदैव तत्पर हूं यह बात जिला शिक्षा अधिकारी बी एल खरे ने अनुनय शाला परिसर में आयोजित अशासकीय विद्यालय प्रबंधक संघ सक्ती के जिला स्तरीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए  स्कूल संचालकों के प्रति साधुवाद व्यक्त किया। 


इस अवसर पर चितरंजय सिंह पटेल, अधिवक्ता ने कहा कि आज अशासकीय विद्यालय प्रबंधन सर्वथा शासन प्रशासन के गलत व अव्यवहारिक नीतियों के कारण पीड़ित है तब हमें प्यार एकता के साथ अपने हक की लड़ाई लड़नी पड़ेगी। 

संघ के नगर अध्यक्ष योगेश साहू ने स्वागत भाषण करते हुए अतिथियों का अभिनन्दन किया। जिला कोषाध्यक्ष आशुतोष चंद्रा ने विद्यालय की कठिनाइयों के बारे में बताया। सचिव विजय लारेंस ने संघ के शुरुवात से वर्तमान विकास यात्रा की बात बताया। उपाध्यक्ष अनिल दरयानी ने संगठन के एकजुटता पर बल दिया। अध्यक्ष मुरलीधर चंद्रम ने व्यापत भ्रष्टाचार के विरोध के लिए प्रेरित किया। आभार प्रदर्शन टी पी उपाध्याय व संचालन अनीस (लिटिल फ्लावर) ने किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कृष्णकुमार जायसवाल (मालखरौदा) व सुशील चंद्रा (डभरा)  अशोक चंद्रा (जैजैपुर) ने भी समस्याओं को लेकर बात रखा। सदस्यता व पंजीयन दायित्व नितिन सोनी ने निभाया।


इस अवसर पर सक्ति, मालखरौदा, डभरा, जैजैपुर विकासखंड के प्रबंध समिति के सदस्यों के साथ ही अनुनय स्कूल के शिक्षक व कर्मचारियों की गरिमामय उपस्थिति रही ।