breaking news New

कोरोना से मृत लोगों के बेसहारा बच्चों हेतु संवेदनशील निर्णय पर पेंशनर संघों ने आभार जताया

कोरोना से मृत लोगों के बेसहारा बच्चों हेतु संवेदनशील निर्णय पर पेंशनर संघों ने आभार जताया

रायपुर, 27 मई। सामान्य प्रशासन विभाग छत्तीसगढ़ शासन द्वारा 22 मई 21 को जारी आदेश के तहत छत्तीसगढ़ महतारी दुलार योजना 2021 को जनहितकारी निरूपित करते हुए भारतीय राज्य पेंशनर्स महासघ के राष्ट्रीय महामंत्री एवं छत्तीसगढ़ राज्य संयुक्त पेंशनर्स फेडरेशन के अध्यक्ष वीरेन्द्र नामदेव ने बताया है कि विश्वव्यापी कोरोना महामारी ने देश प्रदेश में हजारों  लाखों घरों में अंधेरा कर दिया है और न जाने कितने बच्चों के सिर से उनके माँ-बाप का सहारा छीन लिया है। इन परिस्थितियों में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा राज्य में जरूरतमंद बच्चों की चिंता कर उनको हर तरह की सुविधाएं मुहैया कराने सम्बन्धी संवदेनशील निर्णय लिया है जो बेसहारा बच्चों के बेहतर भविष्य निर्माण में काफी सहायक सिद्ध होगा।और पेन्शनर फेडरेशन की ओर से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को ट्यूटकर इस क्रांतिकारी जन हितकारी निर्णय के लिये उनके प्रति आभार जताया है।

 उन्होंने आगे बताया है कि कोविड के खिलाफ लड़ाई के दौरान छत्तीसगढ़ सरकार ने एक ऐसा महत्वपूर्ण निर्णय लिया है जो कोविड पीड़ितों के सहायता के दृष्टि से मील का पत्थर साबित होगा और दूसरे अन्य राज्यों के लिये उदाहरण बनेगा।कोविड के निर्मम प्रहार के चलते जिन बच्चों का सब कुछ छीन गया है, अब उनके लिए छत्तीसगढ़ सरकार संबल बनने जा रही है,और न केवल उनकी शिक्षा का दायित्व उठायेगी बल्कि उनके भविष्य को संवारने की हर संभव कोशिश भी करेगी। सरकार की इस संवेदनशील पहल को अमली जामा पहनाने छत्तीसगढ़ महतारी दुलार योजना लागू की जा रही है। जिसे वित्तीय वर्ष से लागू की जाएगी   तथा ऐसे बच्चे जिन्होंने अपने माता-पिता को इस वित्तीय वर्ष के दौरान कोरोना के कारण खो दिया है, उन की पढ़ाई का पूरा खर्च अब छत्तीसगढ़ सरकार उठाएगी। साथ ही पहली से आठवीं तक के ऐसे बच्चों को 500 रुपये प्रतिमाह और 9 वीं से 12 वीं तक के बच्चों को 1000 रुपये प्रतिमाह की छात्रवृत्ति भी राज्य सरकार द्वारा दी जाएगी। शासकीय अथवा प्राईवेट किसी भी स्कूल में पढ़ाई करने पर ये बच्चे इस छात्रवत्ति के लिये पात्र होंगे। राज्य सरकार द्वारा यह भी निर्णय लिया गया है कि यदि ये बच्चे राज्य में प्रारंभ किए गए स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूलों में प्रवेश हेतु आवेदन देते हैं तो उन्हें प्राथमिकता से प्रवेश दिया जायेगा और उनसे किसी भी प्रकार की फीस नहीं ली जायेगी।

पेंशनर्स फेडरेशन से जुड़े पेंशनर्स एसोसिएशन छत्तीसगढ़ के प्रांताध्यक्ष यशवन्त देवान, पेंशनर्स महासंघ छत्तीसगढ़ प्रदेश के प्रांताध्यक्ष जे पी मिश्रा एवं प्रगतिशील पेन्शनर कल्याण संघ के प्रांताध्यक्ष आर पी शर्मा  आदि ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रति इस संवेदनशील महत्वपूर्ण जनहितकारी निर्णय पर साधुवाद व्यक्त करते हुये आभार व्यक्त किया है।