breaking news New

धुर नक्सली प्रभावित बेचापाल में विद्युतीकरण से ग्रामीणों को मिली बड़ी राहत

धुर नक्सली प्रभावित बेचापाल में विद्युतीकरण से ग्रामीणों को मिली बड़ी राहत

बीजापुर ! जिले के दूरस्थ अंदरूनी नक्सली प्रभावित बसाहटों तथा मजरे-टोले में ग्रिड प्रणाली एवं सौर ऊर्जा के द्वारा विद्युतीकरण किया जा रहा है। इसी कड़ी में भैरमगढ़ ब्लाक के अंतर्गत दूरस्थ अंदरूनी धुर नक्सली प्रभावित बेचापाल में विद्युतीकरण पूर्ण किया गया है। जिससे अब ग्रामीणों को विद्युत सुविधा मिल रही है और घरेलू काम -काज सहित स्कूली बच्चों की पढ़ाई के लिए सहूलियत हो रही है। 


वहीं उप स्वास्थ्य केंद्र में विद्युत कनेक्शन से वेक्सीन एवं दवाई के रख-रखाव के लिए मदद मिल रही है। यहां के रहवासी ग्रामीण आयतू, सुकलू, सोमडू, सुकू एवं कमलू ने विद्युत सुविधा मिलने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए बताया कि पहले रात में घर पर सांप-बिच्छू का डर बना रहता था, लेकिन अब बिजली लगने से दिन जैसा आभास होता है।

इससे महिलाओं को शाम में घरेलू काम करने के लिए आसानी हो रही है। वहीं घर के स्कूली बच्चे रात में पढ़ाई कर रहे हैं। अब गांव में मनोरंजन के लिए टेलीविजन का भी उपयोग कर रहे हैं। 


                         छत्तीसगढ़ विद्युत वितरण कंपनी बीजापुर के संभागीय अभियंता  पीआर साहू ने बताया कि उक्त दूरस्थ क्षेत्र बेचापाल के 5 मजरा-टोला में से 2 मजरे -टोले में विद्युतीकरण पूरा हो चुका है और 3 मजरे -टोले में विद्युतीकरण कार्य प्रगति पर है।

वर्तमान में विद्युतीकृत चेरलीपारा एवं स्कूलपारा में 11 केव्ही के 0.91 किलोमीटर एवं एलटी के 3.7 किलोमीटर लाईन का विस्तार किया गया है।

इसके साथ ही 25 केव्हीए क्षमता के 2 नवीन ट्रांसफार्मर स्थापित कर 35 बीपीएल परिवारों को घरेलू कनेक्शन सहित उप स्वास्थ्य केन्द्र को विद्युत कनेक्शन प्रदान किया गया है।


वहीं बेचापाल ईलाके में सुरक्षा व्यवस्था के लिए स्थापित छत्तीसगढ़ सशस्त्र पुलिस बल के कैम्प हेतु 5 किलोमीटर 11 केव्ही एवं 0.5 किलोमीटर एलटी लाईन का विस्तार करने सहित 100 केव्हीए क्षमता का एक नवीन ट्रांसफार्मर स्थापित किया गया है।

बेचापाल में बिजली सुविधा को देखकर अब अंदरूनी ईलाके के एटेपाल, तिमेनार, हिरोली आदि गांवों के ग्रामीण विद्युतीकरण की मांग किये हैं।