breaking news New

ब्रेकिंग : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल इंडिया इकॉनामी कांक्लेव में शामिल हुए, कहा, 'हमने ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत किया इसलिए कोरोना से मंदी का असर प्रदेश में नही हुआ' कई राज्यों के मुख्यमंत्री, उद्योगपति, केंद्रीय मंत्री उपस्थित रहे

ब्रेकिंग : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल इंडिया इकॉनामी कांक्लेव में शामिल हुए, कहा, 'हमने ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत किया इसलिए कोरोना से मंदी का असर प्रदेश में नही हुआ' कई राज्यों के मुख्यमंत्री, उद्योगपति, केंद्रीय मंत्री उपस्थित रहे

नई दिल्ली. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज इंडिया इकॉनामी कांक्लेव में शामिल हुए. उन्होंने देश की अर्थव्यवस्था पर बोलते हुए राज्य की आर्थिक स्थिति और सरकार के रोडमेप को सामने रखा. इस अवसर पर देश के उद्योगपति, केंद्रीय मंत्री, कई राज्यों के मुख्यमंत्री और अर्थशास्त्री उपस्थित थे.

श्री बघेल ने कांक्ले की शुरूआत करते हुए कहा कि ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने की जरूरत है. इसके लिए हमें आम आदमी की जेब में पैसा डालने की जरूरत है ना कि कुछ चुनिंदा लोगों की जेब में. हमारा रोड मैप सबसे पहले किसानों के लिए है. इसीलिए हमने सबसे पहले किसानों का ऋण माफ किया, धान खरीदी की जबकि केन्द्र सरकार ने ऐनवक्त पर धान खरीदने से इंकार कर दिया. फिर भी हमने किसानों को बोनस की राशि बढ़ाई.

श्री बघेल ने कहा कि किसानों की आर्थिक स्थिति ठीक करने के लिए हमने 10 हजार रूपये प्रति एकड़ दिया. राज्य में 44 प्रतिशत जंगल हैं 13 लाख परिवार हैं जो तेंदुपत्ता और लघु उपज पर आश्रित हैं. हमने उनकी भी आर्थिक स्थिति सुधारी. मनरेगा में भी हमने 107 प्रतिशत मजदूरों से काम लिया और उन्हें काम के बदले पैसा दिया. हमने ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत किया इसलिए कोरोना से मंदी का असर प्रदेश में नही हुआ.

उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में केरल से लेकर छत्तीसगढ़ तक, जो भी बीजेपी के खिलाफ खड़ा है, केंद्रीय एजेंसियों द्वारा उस पर कार्रवाई की जाती है. छत्तीसगढ़ के सीएम का कहना है कि केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग दुर्भाग्यपूर्ण है.

समारोह में विश्व प्रसिद्ध टेनिस खिलाड़ी आंद्रे अगासी, मुख्यमंत्री के सांस्कृतिक सलाहकार गौरव द्विवेदी तथा जनसंपर्क के एडिशनल डायरेक्टर उमेश मिश्रा उपस्थित थे.

सुनिए उनका पूरा भाषण : <blript>