breaking news New

लोक सेवा केन्द्रों के माध्यम से राजनांदगांव में 44 हजार से ज्यादा प्रकरण निराकृत

 लोक सेवा केन्द्रों के माध्यम से राजनांदगांव में 44 हजार से ज्यादा प्रकरण निराकृत

रायपुर। छत्तीसगढ़ शासन द्वारा लोगों के सरकारी दफ्तरों से संबंधित काम-काज शीघ्र और समय सीमा में हो इसके लिए लोक सेवा केन्द्र द्वारा दी जा रही सेवाओं को प्रभावी कार्य किया है। लोक सेवा केन्द्र के माध्यम से प्राप्त होने वाले आवेदन का समय-सीमा में निराकरण करने के निर्देश दिए गए हैं, जिसका असर यह रहा कि लोक सेवा केन्द्र के आवेदनों के निराकरण में गति आई है। लोक सेवा केन्द्र के तहत प्रदेश में विगत जुलाई माह में 53 हजार 533 सर्वाधिक आवेदन राजनांदगांव जिले में प्राप्त हुए है। जिसमें से 44 हजार 291 प्रकरणों का निराकरण कर लिया गया है।

गौरतलब है कि नागरिक लोक सेवा गारंटी के माध्यम से अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति प्रमाण पत्र, अन्य पिछड़ा वर्ग प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र, ई-कोर्ट केस पंजीकरण, चॉइस विवाह प्रमाण पत्र सुधार, चॉइस जन्म सुधार, चॉइस मृत्यु सुधार, पेट्रोल पंप स्थापित करने हेतु एनओसी, मूल निवास प्रमाण पत्र, वन विभाग अनापत्ति प्रमाण पत्र, विवाह पंजीकरण एवं प्रमाण पत्र, स्थानांतरण प्रमाण पत्र सरकारी स्कूल के लिए ऑनलाईन आवेदन कर प्राप्त कर सकते हैं। इस बार प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए भी लोक सेवा केन्द्रों के माध्यम से सेवाएं दी गई। राजनांदगांव के ई-डिस्ट्रिक मैनेजर श्री सौरभ मिश्रा नेे बताया कि कुल प्राप्त आवेदन 53 हजार 533 में से आय, जाति, निवास एवं जन्म-मृत्यु एवं गोमास्ता के 51 हजार 759 आवेदन है। हमारे जिले में 97 प्रतिशत इंटरनेट कव्हरेज है। कुछ ग्राम पंचायतों को छोड़कर लगभग सभी ग्रामों में इंटरनेट कनेक्शन है। वर्तमान समय में जनसामान्य आय, जाति एवं निवास प्रमाण पत्र के लिए लोक सेवा केन्द्र के माध्यम से ऑनलाईन आवेदन की संख्या में वृद्धि हुई है, जो उत्साहजनक है। वर्तमान में 350 ग्रामों में फाइबर कनेक्शन है। वर्ष 2022 तक सभी ग्राम पंचायत फाइबर कनेक्टेड हो जाएंगे। हमारे जिले में आईटी की अच्छी सुविधा है। उन्होंने कहा कि कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) के माध्यम से ग्राम पंचायतों में सेवाएं दी जा रही है। बैंक सखी एवं सीएससी के माध्यम से ग्रामों में डिजिटल बैंकिंग सेवाओं का उपयोग किया जा रहा है।