breaking news New

सायबर सेल को मिली बड़ी सफलता : रिवाल्वर-कारतूस लूट के तीन आरोपियों को किया गिरफ्तार

सायबर सेल  को मिली बड़ी सफलता : रिवाल्वर-कारतूस लूट के तीन आरोपियों को किया गिरफ्तार

रायपुर।  छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के धरसींवा थाना इलाके में 24 मई को लाइसेंसी रिवाल्वर और जिंदा कारतूस लूट मामले में पुलिस ने 3 आरोपी को गिरफ्तार किया है। उनके पास से लूटे गए रिवाल्वर, जिंदा कारतूस भी बरामद कर लिया है। ये तीनों आरोपी किसी बड़ी घटना को अंजाम देने के फिराक में थे। उससे पहले ही पुलिस ने इन्हें धर दबोचा।  सायबर सेल और धरसींवा थाना पुलिस ने यह संयुक्त कार्रवाई की है।
तीनों के कब्जे से लूटा गया सारा सामान बरामद कर लिया गया। पकड़े गए आरोपित पहले भी लूट की कई वारदात में शामिल रहे हैं। एएसपी क्राइम अभिषेक माहेश्वरी ने बताया कि बालाजी बिल्डर कंपनी में निजी सुरक्षा गार्ड अरूण कुमार मिश्रा 23 मई को वह अपने साथी सुरेश कुमार दुबे के साथ बाइक से रिवाल्वर, 11 जिंदा कारतूस के साथ गांव से रायपुर लौट रहा था।
24 मई को तड़के चार बजे सिलतरा के आगे निको कंपनी के सामने हाइवे रोड के पास बदमाशों ने सुरक्षागार्ड अरूण की पिटाई कर उसकी कमर में बंधी लाइसेंसी रिवाल्वर होलस्टर के साथ, 11 जिंदा कारतूस, पि_ु बैग में रखें बाइक का रजिस्ट्रेशन कार्ड, मोबाइल, रिवाल्वर का लाइसेंस, आधार कार्ड, पैन कार्ड, बैंक ऑफ बड़ौदा व आईसीआईसीआई बैंक का एटीएम कार्ड और जेब में रखें तीन हजार रुपये लूट कर फरार हो गए।
झमेन्द्र वर्मा पिता तिहारू राम वर्मा 30 वर्ष, निवासी बाजार चौक शनि मंदिर के पास थाना धरसींवा रायपुर।
तन्मय निषाद पिता सुरेश निषाद 22 वर्ष, निवासी शनि मंदिर के पास थाना धरसींवा रायपुर।
केशव वर्मा पिता बलदाऊ वर्मा 19 वर्ष, निवासी ग्राम परसतराई वार्ड नंबर-3 थाना धरसींवा रायपुर।
उस मामले में साइबर सेल एवं धरसींवा पुलिस थाने की संयुक्त टीम मुखबिरों की मदद से बाजार चौक शनि मंदिर पास, धरसींवा निवासी संदेही झमेन्द्र वर्मा (30) को हिरासत में लेकर पूछताछ की। कड़ाई बरतने पर उसने पड़ोस के तन्मय निषाद (22) और ग्राम परसतराई वार्ड नंबर तीन निवासी केशव वर्मा(19) के साथ मिलकर लूट की वारदात करना कबूल किया। पुलिस ने उनके पास से लूटा गया सारा सामान बरामद कर लिया।