breaking news New

अवैध कब्जा हटाने ग्रामीणों ने सौंपे ज्ञापन, कार्यवाही नहीं होने पर 3 को उग्र आंदोलन

अवैध कब्जा हटाने ग्रामीणों ने सौंपे ज्ञापन, कार्यवाही नहीं होने पर 3 को उग्र आंदोलन

भानुप्रतापपुर, 31 अक्टूबर।  ग्राम पंचायत भानबेड़ा में गोठान चारागाह के लिये आरक्षित की गई  0.38 हेक्टेयर शासकीय भूमि खसरा नंबर 811 को पूर्व सरपंच अशोक सर्फे के द्वारा कब्जा किया गया है। उक्त भूमि पर से कब्जा हटाने के लिए जनप्रतिनिधी एवं ग्रामीणों के द्वारा पूर्व में तहसील कार्यालय भानुप्रतापपुर को आवेदन के माध्यम से अवगत कराएं जा चुके है, लेकिन आज पर्यन्त तक कार्यवाही नही होते देखकर आज शनिवार को ग्रामीणों द्वारा कार्यलय पहुंच कर  पुनः तहसीलदार आनंद राम नेताम को आवेदन सौपते हुये कब्जा हटाने की मांग की गई है। यदि कब्जा नही हटाये जाने के स्थिति में 3 नवम्बर दिन मंगलवार को ग्रामीणों द्वारा उग्र प्रदर्शन किया जावेगा।

भानबेड़ा सरपंच जागेश्वर दर्रो ने बताया कि राज्य शासन के महत्वपूर्ण योजना नरवा गरवा घुरूवा एवं बाडी योजना के तहत ग्राम भानबेड़ा में गोठान बनाया गया है, वही पशुओं के चारागाह के लिये शासकीय भूमि जिस पर पूर्व वन विभाग के द्वारा पौधरोपण भी किया जा चुका है, उक्त भूमि पर पानी के लिए बोर खनन व कुआ की है जिस पर ग्रामीणों बीज बुवाई भी किया गया है। जिसे पूर्व सरपंच अशोक सर्फे द्वारा कब्जा किया गया है, जिसकी जानकारी 03 अक्टूबर को जानकारी हुई कि उक्त भूमि पर सजनिबत्ती पति अशोक सर्फे के नाम से अवैध पट्टा बनाया गया है।  

श्री दर्रो ने कहा कि यदि प्रशासन तत्काल कार्यवाही नही करती है तो 3 नवम्बर का भानबेड़ा में उग्र प्रदर्शन किया जाएगा जिसकी सम्पूर्ण जानकारी शासन प्रशासन की होगी। ज्ञापन सौपते जागेश्वर दर्रो सरपंच ,रमेश कोर्राम उप सरपंच, दुर्योधन सिंह ग्राम पटेल, पंच राम मिलन शोरी, चरण मरकाम, महावीर, संगीता बाई, रीतू बाई, सत्तो,हमीन, शशि कुंजाम, चमेली, चंद्रिका, लत्ता चौरे, सुकन्या नरेटी, बीरझ बाई आदि उपस्थित रहे।