breaking news New

सात फेरे लेने से पहले ही मंडप से दूल्‍हे को उठा ले गई पुलिस, दूल्हे को रात थाने में बितानी पड़ी जाने फिर क्या हुआ

सात फेरे लेने से पहले ही मंडप से दूल्‍हे को उठा ले गई पुलिस, दूल्हे को रात थाने में बितानी पड़ी  जाने फिर क्या हुआ

आगर मालवा। मध्यप्रदेश के आगर मालवा जिले में कोरोना कर्फ्यू के तहत शादी-ब्याह पर भी प्रतिबंध लगाया गया है। इसके बावजूद ग्रामीण क्षेत्र में ऐसे आयोजन करने से लोग मान नहीं रहे है। रविवार-सोमवार की दरम्यानी रात को जिले के ग्राम लसुल्डीया केलवा में हो रही एक शादी को नलखेड़ा पुलिस प्रशासन ने मौके पर पहुंच कर रुकवाई। इसके बाद दुल्हन लेने आये दूल्हे को खाली हाथ ही बैरंग लौटना पड़ा। दूल्हे को थाने में ही रात बितानी पड़ी। प्राप्त जानकारी के अनुसार कंट्रोल रूम आगर से मिली सूचना पर नलखेड़ा पुलिस का दल देर रात तहसील के ग्राम लसुल्डीया केलवा पहुंचा, जहां ग्राम कचनारिया निवासी दूल्हा मनोहर पिता शंकरलाल सेन अपने पिता के साथ मौजूद था। इसका विवाह लसुल्डीया केलवा निवासी तोलाराम सेन की पुत्री योगिता से होना था। रस्में अदा की जा रही थी तभी अचानक पुलिस पहुंची और कोरोना कर्फ्यू के तहत कलेक्टर के आदेश का उल्लघंन करते हुए पाए जाने पर रात को लगभग 3 बजे दूल्हे, उसके पिता व दुल्हन के पिता को पुलिस थाने लाया गया। उनके खिलाफ धारा 188 के तहत प्रकरण दर्ज कर दूल्हे को बगैर शादी के उसके ग्राम भेजा दिया गया है। बता दें कि कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते चारो और कोहराम मचा हुआ है। कोरोना संक्रमण की रोकथाम हेतु आगर जिले में कलेक्टर अवधेश शर्मा के आदेशानुसार शादी-ब्याह के साथ अन्य समारोह को 15 मई तक प्रतिबंधित किया गया है।