breaking news New

अनुसूचित जनजाति शासकीय सेवक विकास संघ छत्तीसगढ़ के तत्वावधान में सामान्य बैठक

अनुसूचित जनजाति शासकीय सेवक विकास संघ छत्तीसगढ़ के तत्वावधान में सामान्य बैठक


नारायणपुर।   शनिवार को जिला मुख्यालय नारायणपुर में अनुसूचित जनजाति शासकीय सेवक विकास संघ छत्तीसगढ़ के तत्वावधान में सामान्य बैठक एवं जिला कार्यकारिणी का गठन किया गया जिसमें छत्तीसगढ़ प्रदेश के प्रांत अध्यक्ष सहित प्रांतीय कार्यकारिणी के सदस्य भी उपस्थित थे। उक्त बैठक में जिला नारायणपुर के अंतर्गत नारायणपुर मुख्यालय एवं ओरछा मुख्यालय दो ब्लॉक के अनुसूचित जनजाति संवर्ग के शासकीय अधिकारी एवं कर्मचारी बड़ी संख्या में उपस्थित रहे।

 फरवरी 2021 में प्रांतीय कार्यकारिणी के गठन के पश्चात छत्तीसगढ़ राज्य के समस्त जिलों में जिला स्तरीय कार्यकारिणी का गठन चरणबद्ध रूप से शांति कार्यकारिणी के निर्देशानुसार किया जा रहा है। उसी क्रम में जिला नारायणपुर के जिला कार्यकारिणी सदस्य सदस्यों का मनोनयन सर्वसम्मति से किया गया अनुसूचित जनजाति शासकीय सेवक विकास संघ जिला नारायणपुर के जिलाध्यक्ष के रूप में श्री अशोक उसेंडी, उपाध्यक्ष के रूप में श्रीमती बृजेश्वरी रावटे, श्री दीनदयाल सोरी और श्री संतु राम नुरेटी, महासचिव श्री भागेश्वर पात्र, सचिव श्री हरीश कुमार ठाकुर, संयुक्त सचिव श्रीमती संगीता ज्ञानेश्वरी ध्रुव, डॉ. दीपेश रावटे, श्री ग्वाल सिंह ठाकुर, श्रीमती कोता गार्डी,  कोषाध्यक्ष श्री तीरथ कश्यप, मीडिया प्रभारी श्री ईश्वर कश्यप एवं श्री बुध सिंह मंडावी, कार्यकारिणी सदस्य श्री माखन पात्र श्री हेमंत सोरी, श्री इंद्र प्रसाद बघेल, श्री देवेंद्र सिंह ठाकुर, श्री सुंदरलाल नाग, श्रीमती धनेश्वरी नाग, श्री मनी पोटाई का नाम सर्वसम्मति से मनोनीत किया गया।


 
उक्त चुनाव में प्रांतीय पदाधिकारियों के रूप में श्री आरएन ध्रुव प्रांताध्यक्ष, श्री सदे सिंह कोमरे प्रांतीय उपाध्यक्ष, श्री जयपाल सिंह ठाकुर प्रांतीय सचिव एवं जिला प्रभारी और प्रांतीय कार्यकारिणी सदस्य श्री सोमेश्वर पात्र तथा कांकेर जिला के मीडिया प्रभारी श्री लखन जुर्री उक्त बैठक को संबोधित किए।
 जिला कार्यकारिणी के मनोनयन पश्चात प्रांतीय पदाधिकारियों एवं उपस्थित लोगों द्वारा मनोनीत पदाधिकारियों को बधाई प्रेषित कर उनसे जिला स्तरीय संघ के क्रियाकलाप को बेहतर ढंग से किए जाने का आह्वान करते हुए शुभकामनाएं व्यक्त की गई ।
 
आज के बैठक का मुख्य उद्देश्य अनुसूचित जनजाति शासकीय सेवक विकास संघ छत्तीसगढ़ की अगुवाई में दिनांक 26 जुलाई 2021 दिन सोमवार को पदोन्नति में आरक्षण संबंधी विराट रैली प्रदर्शन में सभी जिला के सदस्यों को अधिक से अधिक संख्या में सम्मिलित होने का आह्वान किया गया। साथ ही प्रदेश कार्यकारिणी द्वारा जिले के समस्त अनुसूचित जनजाति संवर्ग के कर्मचारियों से आह्वान किया गया कि निर्धारित कार्यक्रम अनुसार अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति वर्ग के साथ हो रहे शोषण अन्याय अत्याचार के खिलाफ आंदोलन में सम्मिलित होकर सामाजिक एकजुटता का परिचय देते हुए भी भागीदारी सुनिश्चित करने का कष्ट करेंगे।



ज्ञात हो कि प्रदेश सरकार द्वारा अनुसूचित जनजाति संवर्ग के पदोन्नति के पदों को सामान्य संवर्ग से भरे जाने के विरोध स्वरूप दिनांक 8 जून से लेकर 28 जून तक चरणबद्ध रूप से आंदोलन चलाया जा रहा है, जिसमें प्रथम चरण के रूप में 8 से 14 जून तक छत्तीसगढ़ के सभी सांसदों सभी विधायकों को अपने अपने स्तर पर पदोन्नति में आरक्षण की बहाली के संबंध में ज्ञापन सौंपा गया।  द्वितीय चरण के रूप में दिनांक 20 जून 2021 को प्रदेश के समस्त अनुसूचित जनजाति शासकीय कर्मचारियों द्वारा वर्चुअल आंदोलन किया गया साथ ही प्रत्येक सदस्यों द्वारा अपने ट्विटर हैंडल से पदोन्नति में आरक्षण की बहाली संबंधित ट्वीट लाखों की संख्या में किए गए एवं तृतीय चरण के रूप में सभी जिला मुख्यालयों में संघ के पदाधिकारियों द्वारा जिला के कलेक्टरों को माननीय मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नाम से पदोन्नति में आरक्षण की बहाली को लेकर ज्ञापन सौंपा गया ।
क्योंकि आज दिनांक तक पदोन्नति में आरक्षण की बहाली के संबंध में राज्य शासन ने कोई भी सकारात्मक कदम नहीं उठाया है इस कारण चौथे चरण के रूप में दिनांक 26 जुलाई 2021 दिन सोमवार को प्रदेशभर के समस्त अनुसूचित जनजाति शासकीय कर्मचारियों द्वारा विशाल रैली के रूप में बूढ़ा तालाब से लेकर विधानसभा घेराव तक विराट रैली का प्रदर्शन कर पदोन्नति में आरक्षण की बहाली के संबंध में ज्ञापन सौंपा जाना है।