breaking news New

ग्लोबल वार्मिंग के कारण चक्रवाती तूफानों का आना बढ़ा

ग्लोबल वार्मिंग के कारण चक्रवाती तूफानों का आना बढ़ा

नई दिल्ली, 28 मई।  ग्लोबल वार्मिंग के कारण हिंद महासागर के तेजी से गर्म होने की वजह से भारत में अधिक तीव्रता वाले चक्रवाती तूफानों का आना बढ़ गया है।

इस बीच, विश्व मौसम विज्ञान संगठन (डब्ल्यूएमओ) ने चेतावनी दी है कि अगले पांच वर्षों के दौरान ग्लोबल वार्मिंग के और बढ़ने की आशंका है।

डब्ल्यूएमओ ने गुरुवार को जानकारी दी कि 40 फीसदी आशंका है कि अगले पांच वर्षों में वार्षिक औसत वैश्विक तापमान अस्थायी रूप से पूर्व-औद्योगिक समय से 1.5 डिग्री सेल्सियस ऊपर पहुंच सकता है।

डब्ल्यूएमओ ने कहा कि अभी भी पूरे अनुमान के साथ यह नहीं कह सकते कि कि अगले पांच वर्षों का वार्षिक तापमान पूर्व-औद्योगिक समय से 1.5 डिग्री सेल्सियस अधिक हो जाएगा लेकिन अब ऐसा होने की आशंका दोगुनी हो गई है।

डब्ल्यूएमओ के वार्षिक अपडेट में कहा गया है कि वैश्विक तापमान को पूर्व-औद्योगिक स्तर से अधिक 1.5 डिग्री सेल्सियस तक सीमित कर देने के पेरिस समझौते के लक्ष्य को अब पाने की संभावना नहीं लग रही है, क्योंकि 19वीं सदी की तुलना में 2020 में वैश्चिक तापमान में 1.2 सेल्सियस की वृद्धि देखी गई।