घरेलू उपचार से ही कोरोना के खिलाफ लड़ाई जीत ली, मशहूर नृत्यांगना गीता चन्द्रन

घरेलू उपचार से ही कोरोना के खिलाफ लड़ाई जीत ली, मशहूर नृत्यांगना गीता चन्द्रन


नयी दिल्ली 26 जून ।  संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार से सम्मानित सुप्रसिद्ध भरत नाट्यम नृत्यांगना गीता चंद्रन ने 21 दिन तक अपने घर में रहकर घरेलू उपचार से ही कोरोना के खिलाफ अपनी लड़ाई जीत ली है और वह अब पूरी तरह स्वस्थ हो गई हैं।इसी तरह हिंदी की चर्चित लेखिका Vandana Rag भी Corona से लड़ कर स्वस्थ हुई हैं ।उन्होंने फेसबुक पर कोरोना से अपनी इस लड़ाई की पूरी कहानी लिखी है ।नाट्य वृक्ष संस्था की अध्यक्ष एवं  Delhi University के लेडी श्रीराम कालेज से शिक्षा प्राप्त गीता चंद्रन ने शुक्रवार को Facebook पर लिखा है.

कि उन्हें पांच जून को बुखार आया । डॉक्टरों ने उसे सामान्य बुखार समझा पर जब छह जून को उनकी जीभ का स्वाद भी खत्म हो गया तो उन्होंने कोरोना का टेस्ट कराया जिससे पता चला कि वह इस रोग से संक्रमित हैं। इसके बाद उन्होंने घर पर रहकर ही खुद को क्वारन्टीन किया और घरेलू उपचार करती रहीं। इसके अलावा वह रोज अपने बुखार की निगरानी करती रही और ऑक्सीमीटर मशीन से अपने फेफड़े में oxygen के स्तर को भी जांचती रही।श्रीमती Geeta Chandran  ने अपनी पोस्ट पर यह भी लिखा है कि पिछले 10 दिन से उन्हें अब बुखार नहीं है और उनका स्वाद भी अब लौट चुका है ।अब वह अपनी ताकत फिर से अर्जित कर रही है।उन्होंने यह भी लिखा है कि दिल्ली सरकार ने उन्हें फोन पर सूचित किया है कि उनके Quarantine की अवधि पूरी हो गई है ।