breaking news New

भाजपा ने विधानसभा में उठाया थानों में प्रताडऩा से त्रस्त लोगों के आत्महत्या का मामला

भाजपा ने विधानसभा में उठाया थानों में प्रताडऩा से त्रस्त लोगों के आत्महत्या का मामला

रायपुर । विधानसभा में आज भाजपा सदस्यों ने प्रदेश के थानों में लगातार प्रताडऩा से त्रस्त लोगों के आत्महत्या का मामला उठाया। गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने विपक्षी सदस्यों द्वारा लगाए गए आरोपों से इंकार करते हुए कहा कि प्रदेश में जन जीवन सामान्य है  और शासन-प्रशासन के प्रति लोगों में विश्वास बढ़ा है।

नेताप्रतिपक्ष व भाजपा सदस्य धरमलाल कौशिक, बृजमोहन अग्रवाल व डा. कृष्णमूर्ति बांधी ने ध्यानाकर्षण सूचना के माध्यम से यह मामला उठाया। गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने भाजपा सदस्यों द्वारा लगाये गय आरोपों पर कहा कि रायपुर के थाना पण्डरी में अमित गाईन की हत्या का अपराध कायम हुआ था, इसमें संदेह में मोहन सोनी, दिलीप बाघ, रितिक धु्रव, अश्वनी उर्फ बादल एवं एक अपचारी बालक को पुलिस अभिरक्षा में लेकर दिनांक 28.10.2020 को वैधानिक कार्यवाही की जा रही थी।

इसी दौरान संदेही मानिकपुरी ने बाथरूम जाने की बात कहा, जिस पर आरक्षक नंदकिशोर गुप्ता एवं आरक्षक मंजित केरकेट्टा उसे थाने के बाथरूम में ले गये। अश्वनी मानिकपुरी ने बाथरूम का दरवाजा अंदर से बंद कर लिया और अपने बेल्ट से फंदा बनाकर रोशनदान में फांसी पर लटक गया। घटना पर थाना पण्डरी में मर्ग क्रमांक 29/20 कायम कर जांच में लिया गया।

जांच के दौरान न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी रायपुर द्वारा शव पंचनामा कार्यवाही की गई। इसके बाद शव परीक्षण डॉक्टरों की टीम से कराया गया। शव परीक्षण की विडियोग्राफी कराई गई। पीएम रिपोर्ट में डॉक्टर द्वारा मृतक की मृत्यु फांसी लगने से दम घुटने से होना लेख किया है। मृतक अश्वनी मानिकपुरी के साथ पुलिस द्वारा कोई मारपीट एवं अमानवीय व्यवहार नहीं किया गया। प्रकरण में न्यायिक मजिस्ट्रेट द्वारा जांच की जा रही है। 

गृहमंत्री ने कहा कि हरिशचंद रजवाड़े की हत्या के संदेह में पुलिस चौकी लटोरी के पुलिसकर्मी पावर स्टेशन लटोरी जाकर संदेही सब इंजीनियर पूनम सिंह कतलम से पूछताछ कर रहे थे। पूछताछ के दौरान पूनम सिंह सब इंजीनियर पूनम सिंह कतलम द्वारा स्वास्थ्य खराब होना करने पर, उसे सामूदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लटोरी में उपचार के लिए दिनांक 23.11.2020 के शाम 4 बजे भर्ती कराया गया। ईलाज के दौरान विभागीय अटेंडर समयलाल व लक्ष्मीप्रसाद ठाकुर उसके साथ थे। जहां उपचार के दौरान दूसरे दिन दिनांक 24.11.20 को प्रात: 4.40 बजे हृदय गति अपरूद्ध होने उसकी मृत्यु हो गई। थाना जयनगर में मर्ग क्रमांक 74/20 कायम कर जांच में लिया गया। 

उन्होंने कहा कि तहसीलदार लटोरी जिला सूरजपुर द्वारा शव पंचनामा कार्यवाही की गई। डॉक्टरों की टीम द्वारा शव का परीक्षण किया गया। शव परीक्षण रिपोर्ट में डॉक्टर ने हृदय गति अवरूद्ध होने से नेचुरल डेथ होना लेख  किया है। पोस्ट मार्टम करने वाले डॉक्टर ने मृतक के शरीर पर आई चोट को सामान्य प्रकृति का एवं 40-50 घंटे पूर्व होना बताया।

दिनांक 22.11.2020 को पूनम सिंह कतलम और उसके साथी विजय विश्वकर्मा, संजय विश्वकर्मा, संजय दुबे, पावर स्टेशन लटोरी में शराब पी रहे थे। उसी समय हरिशचंद रजवाड़े के वहां पहुंचने पर उनके बीच में मारपीट हुई थी। यह चोट इसी मारपीट से आना संभावित है। मृतक पूनम सिंह कतलम को पूछताछ हेतु न तो पुलिस चौकी लाया गया था और न ही किसी प्रकार से प्रताडि़त किया गया था। मामले में न्यायिक मजिस्ट्रेट द्वारा जांच की जा रही है। यह भी कहना सही नहीं है, कि वितग दो वर्षों में पुलिस हिरासत मृत्यु की घटनाओं में वृद्धि हुई है। प्रदेश के जेलों में भी पिछले 03 माह में प्रताडऩा के कारण किसी भी कैदी की मौत नहीं हुई है। जन जीवन सामान्य है शासन प्रशासन के प्रति लोगों में विश्वास बढ़ा है।