breaking news New

राजधानी के प्रमुख चौंक चौराहों व आस-पास के गाँवों तक सामाजिक संस्था ने पहुंचाया राशन

राजधानी के प्रमुख चौंक चौराहों व आस-पास के गाँवों तक सामाजिक संस्था ने पहुंचाया राशन

गरीबो व प्रवासी श्रमिको को बांटा गया राशन
 
रायपुर ! राजधानी सहित प्रदेश के कई जिलों में लगभग एक महीने से जारी लॉकडाउन से गरीब व मेहनत मजदूरी करने वाले परिवारों को सामाजिक संस्था की पहल से राशन सामाग्री व गरम भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। कोरोना के खिलाफ जारी लड़ाई में लॉकडाउन होने से कई लोगों के पास पेट भरने का संकट खड़ा हो गया है। ऐसे में राजधानी की सामाजिक संस्था ने मानवता का संदेश देते हुए जरुरतमंदों तक हर दिन भोजन पहुंचाने का बीड़ा  उठाया है ताकि आपदा के समय हर नागरिक देश के लिए अपना योगदान देने कदम उठाए जिससे हमारे आसपास कोई भी व्यक्ति भूखा न सोये।

सामाजिक संस्था वक्ता मंच द्वारा लॉक डाउन के दौरान जारी राहत कार्यो की श्रृंखला में राजधानी से लगे डूंडा,डोमा ,मुर्रा,भांठागांव,दतरेंगा आदि ग्रामो में पहुंचकर सहायता व जागरूकता कार्य चलाया गया।इन ग्रामों में सूखे राशन के 100 से अधिक पैकेट जरूरतमंद परिवारों को प्रदान किये गये।वक्ता मंच के अध्यक्ष राजेश पराते का कहना है, संस्था के माध्यम से अब तक जन सहयोग से40 क्विंटल से अधिक राशन वितरण किया जा चुका है। लोगों की दैनिक जरुरत के अनुसार राशन के पैकेट में चावल,दाल, आटा, प्याज,आलू,बिस्किट,ब्रेड, सोयबड़ी,अचार,मसाला,पोहा आदि सामाग्रियां दी जा रही है।इसके अलावा आवश्यकतानुसारसाबुन व मास्क भी वितरित किये जा रहे है।इस कड़ी में आमापारा अग्रेसन चौक,लाखे नगर में निर्माण मजदूरों,रोज कमाने खाने वालों,गरीबो व प्रवासी श्रमिको को राशन बांटा गया।

लॉक डाउन की अवधि बढ़ने से रोज कमाने खानेवाले लोगो एवं बाहर से आकर अस्पताल में भर्ती हो रहे मरीजों के परिजनों को विशेष रूप से संकट का सामना करना पड़ रहा है।इस स्थिति में संस्था द्वारा आवश्यकता पड़ने पर पके हुए भोजन के फ़ूड पैकेट्स का प्रबंध भी किया जा रहा है।

जरूरतमंद व्यक्ति द्वारा वक्ता मंच के हेल्प डेस्क व्हाट्सएप्प नंबर 9165599995 पर संदेश प्रेषित कर आवश्यक सलाह व मदद प्राप्त कर सकता है।हेल्प डेस्क के माध्यम से भी पीड़ितों को गाइडेंस व अन्य सहायता प्रदान की जा रही है।मंच द्वारा सेवा कार्य के दौरान अनिवार्य रूप से टीका लगवाने,मास्क पहनने,नियमित अंतराल में साबुन या सेनेटाइजर से हाथ धोने,शारीरिक दूरी बनाए रखने, भीड़ से बचने,अस्वस्थ होने की स्थिति में चिकित्सक के निर्देशों का पालन करने,स्वच्छता बनाये रखने एवं कोविड सम्बन्धी नियमो व शासन प्रशासन के निर्देशों का पालन करने का अनुरोध भी किया जा रहा है।इस कठिन परिस्थिति में आपसी सहयोग,दृढ़ मनोबल एवं सकारात्मकता को अपनाए जाने एवं पैनिक से बचने की जरूरत है।