breaking news New

सीनियर माओवादी कैडर हरिभूषण की कोरोना बीमारी से हुई मौत

सीनियर माओवादी कैडर हरिभूषण की कोरोना बीमारी से हुई मौत

जगदलपुर।  छत्तीसगढ़ एवं तेलंगाना राज्य की सीमावर्ती जिला बीजापुर के पामेड़-पुजारीकांकेर-उसूर इलाके में खूंखार नक्सली के रूप में विगत कई वर्षों से सक्रिय हरिभूषण उर्फ यापानारायण उर्फ जगन उर्फ दुर्योधन उर्फ लखमा की उम्र 56 वर्ष है तथा तेलंगाना के महबूबनगर जिले की मदागुडे़म का रहने वाला है। छत्तीसगढ़ राज्य में हरिभूषण के ऊपर 22 से अधिक प्रकरण दर्ज है तथा 40 लाख रूपये का ईनाम घोषित है।

विश्वसनीय सूत्रों से प्राप्त जानकारी अनुसार सीपीआई माओवादी के सेंट्रल कमेटी सदस्य एवं तेलंगाना स्टेट सेक्रेटरी सीनियर माओवादी हरिभूषण की कोरोना बीमारी से दिनांक 21 जून 2021 को जिला सुकमा-बीजापुर के सीमावर्ती क्षेत्र के जब्बागट्टा-मिनागट्टा-बट्टीगुड़म के मध्य जंगल इलाके मौत हो गई है।

दिनांक 01 जून 2021 में ईलाज के लिए वारंगल जाते हुए सीनियर माओवादी सोबराय उर्फ गड्डम मधुकर को गिरफ्तार किया गया था। गिरफ्तार माओवादी सोबराय से प्राप्त जानकारी अनुसार सीपीआई माओवादी के सेन्ट्रल कमेटी सहित कई माओवादी कैडर कोरोना संक्रमण से पीड़ित होने का जानकारी प्राप्त हुई है, ततपश्चात सोबराय को ईलाज हेतु हैदराबाद अस्पताल में भर्ती गई, जिनकी मृत्यु दिनांक 03 जून 2021 को हो गई।

जिला सुकमा एवं बीजापुर के सीमावर्ती क्षेत्र में माओवादियों के डेरा में लगातार कोरोना महामारी संक्रमण बढ़ते जा रहा है। विगत 02 महिने से सीपीआई माओवादी संगठन की कई कैडर कोरोना संक्रमित से मृत्यु होना तथा गंभीर रूप से बीमार होने के संबंध में पुलिस एवं सुरक्षाबल के पास लगातार जानकारी प्राप्त हो रही है।

उल्लेखनीय है कि बासागुड़ा-जगरगुण्डा-पामेड़ की अंदरूनी इलाकों में माओवादियों की डेरा में कोरोना महामारी से संक्रमित होने के बाद ईलाज हेतु वारंगल जाते हुये पकड़े गये CPI माओवादी संगठन DKSZC के सीनियर माओवादी कैडर गंगा उर्फ आयतु कोसा की खम्मम में एवं सीनियर माओवादी कैडर सोबराय उर्फ गड्डम मधुकर की  ईलाज के दौरान वारंगल में मौत की पुष्टि हो चुकी है।

पुलिस महानिरीक्षक, बस्तर रेंज श्री सुंदरराज पी. द्वारा बताया गया कि माओवादियों के डेरा में कोरोना महामारी संक्रमण से माओवादियों द्वारा सिर्फ सीनियर कैडर्स को बचाने की कोशिश की जा रही है। स्थानीय निचले स्तर के कैडर्स को कोरोना संक्रमण के संबंध में झूठा जानकारी दिया जाकर उनके जान को जोखिम में डाला जा रहा है।  पुलिस महानिरीक्षक, बस्तर रेंज ने क्षेत्रवासियों से माओवादी गतिविधियों से दूर रहने की समझाईश दी गई तथा माओवादी कैडर्स से कोरोना बीमारी से बचने हेतु हिंसा छोड़कर शासन-प्रशासन के समक्ष आत्मसमर्पण करने की अपील की गई।