breaking news New

भाजपा के इशारे पर कालीचरण ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी की - कांग्रेस

भाजपा के इशारे पर कालीचरण ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी की - कांग्रेस

 भूपेश सरकार के तीन साल के कार्यकाल के बाद भाजपा खो चुकी जन समर्थन 

रायपुर। पूर्व मंत्री एवं विधायक बृजमोहन अग्रवाल के प्रेस वार्ता पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि धर्म संसद के मंच में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के खिलाफ अमर्यादित  और अशब्दों का प्रयोग करने वाले कालीचरण के पीछे भाजपा ही हैं पूर्व मंत्री और विधायक बृजमोहन अग्रवाल के प्रेस वार्ता से स्पष्ट हो गया?

भाजपा के ईशारे में कालीचरण ने धर्म संसद में अधर्म किया ये दूध का दूध और पानी का पानी हो गया ।भाजपा छत्तीसगढ़ में सामाजिक समरसता को खराब करने के लिए वैमनष्यता फैलाने के लिए धर्म से धर्म को लडाकर राजनीतिक रोटी सेकने कालीचरण जैसे लोगों का उपयोग करती है।

भाजपा की कालीचरण की रिहाई की मांग से अब छत्तीसगढ़ के पौने तीन करोड़  जनता के सामने भाजपा के असल चरित्र का पर्दाफाश हो गया। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के खिलाफ कालीचरण के अमर्यादित भाषा की निंदा पूरा संत समाज कर रहा है संत महात्मा कर रहे हैं सिर्फ भाजपा ही कालीचरण के समर्थन में खड़ी है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि भाजपा के प्रदेश प्रभारी डी पुरंदेश्वरी की मौजूदगी में बस्तर में आयोजित भाजपा के चिंतन शिविर में भाजपा आरएसएस के लोगों ने छत्तीसगढ़ में  इस प्रकार से धार्मिक उन्माद फैलाने का षड्यंत्र की कूटरचना की थी जिसका ही प्रदर्शन भाजपा कर रही है

धर्म संसद के पहले धर्मांतरण के झूठे आरोप लगाकर भाजपा ने छत्तीसगढ़ के शांत धरा को अशांत करने की कोशिश किया फिर कवर्धा में बाहर से लोगों को बुलाकर कवर्धा  के सामाजिक समरसता भाईचारा को खंडित करने का षड्यंत्र किया उन्माद फैलाने की कोशिश की अब धर्म संसद के भावनाओं को भी तार-तार करने का काम कालीचरण ने किया है और इसके पीछे स्पष्ट भाजपा के मंसूबे समझ में आ रही है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के कानून व्यवस्था बिगडऩे वाले बयान पर पूछा क्या भाजपा  छत्तीसगढ़ में दंगा फसाद करना चाहती है?बाहर से लोगों को बुलाकर छत्तीसगढ़ को अशान्त करना चाहती है? 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार के तीन साल के कार्यकाल के बाद भाजपा जन समर्थन खो चुकी है किसान युवाओं महिलाओं का विश्वास खो चुकी है मुद्दाविहानी हो चुकी है मुद्दों के दिवालियापन के दौर से गुजर रही है ऐसे में भाजपा आरएसएस के शिक्षा दीक्षा की तरह छत्तीसगढ़ को अशान्त कर राजनीति करने का प्रयास कर रही है लेकिन उनके मंसूबे सफल नहीं होंगे छत्तीसगढ़ की जनता और छत्तीसगढ़ की पुलिस भाजपा के इस मंसूबे को नाकाम करेगी भाजपा के नेताओं को समझ लेना चाहिए।