breaking news New

बरसते पानी में भी जिला अध्यक्ष नीलू चंद्रवंशी का जारी रहा किसान अधिकार पदयात्रा

बरसते पानी में भी जिला अध्यक्ष नीलू चंद्रवंशी का जारी रहा किसान अधिकार पदयात्रा

भारतीय जनता पार्टी किसानों को धोखा देने वाली पार्टी है - नीलू चंद्रवंशी

कवर्धा, 25 मार्च। दिल्ली में चल रहे केंद्र सरकार के तीन कृषि कानून के विरोध में किसान आंदोलन के समर्थन में एवं बढ़ती पेट्रोल डीजल, गैस सिलेंडर एवं दैनिक उपयोग के खाद्यय सामग्री की मंहगाई के विरोध में जिला कांग्रेस कमेटी कबीरधाम के मुखिया नीलू चंद्रवंशी के नेतृत्व में किसान अधिकार पद यात्रा का छठवा दिन जय जवान, जय किसान के नारे के साथ प्रतिदिन की भाँति 20  किलोमीटर की दूरी पैदल चलकर खारा से प्रारम्भ होकर , निवासपुर ,बहेराखार , भींभोरि, उसरवाही ,लोहारीडीह,भेलवाला,खम्हरिया ,बावातालाब होते हुए रेंगाखार में सभा कर समाप्ति की गई। रिमझिम बारिश होने के बावजूद भी कोई भी कांग्रेसी कार्यकर्ता एवं किसानों ने पीछे नहीं हटते हुए बारिश में भींगकर भी लगातार पदयात्रा जारी रखा। किसान अधिकार पदयात्रा में नीलू चंद्रवंशी ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी कि जब छत्तीसगढ़ प्रदेश में सरकार थी, तो उन्होंने अनेकों वादे किए किसानों को ₹2100 समर्थन मूल्य देने का वादा किया, जिसे वह पूरा नहीं कर पाए किसानों को धोखा दिया साथ ही किसानों को ₹300 बोनस देने की बात कही थी तीन साल दिया दो साल नही इसमें भी भारतीय जनता पार्टी ने किसानों को धोखा दिया जो केवल चुनावी जुमला था, और आज जब भूपेश बघेल की कांग्रेस वाली सरकार किसानों की हित में काम कर रही है, किसानों को 2500 रुपये समर्थन मूल्य दे रहा है और किसानों का कर्जा पूरे प्रदेश में माफ किया है, फिर भी भाजपा की नेता एवं कार्यकर्ता लोगों को गुमराह करने के लिए कांग्रेस के खिलाफ अफवाह उड़ा रहे हैं और साथ ही आज जब भूपेश बघेल जी अपने प्रदेश के किसानों को 25 सौ रूपए समर्थन मूल्य देना चाहते हैं।

 फिर भी केंद्र की सरकार उन्हें ऐसा करने से रोकना चाहती है, और ऐसा करने के लिए उन्होंने तानाशाही रवैया अपनाया और छत्तीसगढ़ के सरकार पर दबाव बनाया कि यदि आप किसानों को 25 सौ रुपया समर्थन मूल्य देंगे, तो हम आपके पीडीएस कोटे का चावल नहीं खरीदेंगे फिर भी कांग्रेस की सरकार एवं मंत्रिमंडल ने सयुक्त रूप से एक अन्य तरीका निकाल कर एक नयी योजना राजीव गांधी किसान न्याय योजना बनाकर अपने वादे को पूरा किया। लेकिन केंद्र की तानाशाही सरकार लगातार किसानों के शोषण के लिए योजनाएं बनाकर काम कर रही है।


 इसी बीच केंद्र की सरकार ने तीन नया कानून किसानों के लिए लागू किया जिसका अध्ययन करने पर साफ पता चलता है, कि यह कानून किसानों को बड़े-बड़े उद्योगपतियों के गुलाम बनाने की साजिश है। इसीलिए हजारों लाखों की शान दिल्ली में आंदोलन कर रहे हैं और हम भी उनके समर्थन में निकले हैं।  और जब तक हमारे किसानों को न्याय नहीं मिल जाता और वे सभी संतुष्ट होकर अपने घर सुरक्षित वापस नहीं लौट जाते हैं तब तक हम भी किसान अधिकार पदयात्रा के माध्यम से किसानों की हित में लड़ाई लड़ते रहेंगे। और उनके छल कपट को लोगों को बताकर आने वाले चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को आमजन एवं किसानों के साथ मिलकर उखाड़ फेकेंगे,जिसके पश्चात युवा नेता कृष्णा कुमार नामदेव ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि हमारे जिला अध्यक्ष नीलू चंद्रवंशी और साथ में कांग्रेस कार्यकर्ता सहित क्षेत्र के जितने भी किसान हैं, वो लगातार छठवां दिन प्रतिदिन 22 से 25 पैदल चलकर गांव गांव में जाकर लोगों को मोदी सरकार के छल से अवगत करा रहे हैं, इसमें हमें अनेक दिक्कतों जैसे तेज धूप, बारिश के साथ-साथ जिला अध्यक्ष सहित सभी कार्यकर्ताओं के पैरों में पैदल चलने की वजह से छाले पड़े हैं, इसके पश्चात भी नीलू चंद्रवंशी जैसे मजबूत नेतृत्व के साथ अनवरत चल रहे हैं, और जब तक हमारी मांगे पूरी नहीं हो जाती हम संघर्ष करते रहेंगे। 

उक्त पदयात्रा में जिला कांग्रेस कमेटी के जिला अध्यक्ष नीलू चंद्रवंशी ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सुमिरन सिंह धुर्वे लोहारा ब्लॉक अध्यक्ष रामचरण पटेल भगवान सिंह पटेल जलेश्वर राजपूत चोवा राम साहू कृष्णा कुमार नामदेव टीकम शर्मा गिरीश चंद्रवंशी गोपाल चंद्रवंशी राजेंद्र द्विवेदी दिलीप साहू मधुर पटेल जागृत दास मानिकपुरी पूरन नाथ योगी आसाराम टेकाम बंसी लाल कुंभकार रघुराज सिंह यादव रामकुमार सरपंच चमेली नेताम विमला धुर्वे सोनल अग्रवाल शरद बांगली तानसेन चौधरी  संतोष धरमगढे प्रदीप सेन हिंगलेश निर्मलकर मोहित नेताम मोहन मरकाम लीला धनुख वर्मा गोवर्धन यादव संतोष गंधर्व परसोत्तम छेदावी पुसूराम मेरावी अंजू राम पटेल घनश्याम साहू अब्दुल शहीद सुरेश श्रीवास शिवप्रसाद गुहरा यादव  संतोष कुमार गनपत पटेल मोहित नेताम लेखराम पंचेश्वर हंसराम धुर्वे सहित हजारों की संख्या में किसान एवं कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मिलित रहे।