breaking news New

स्ट्रेचर से डॉक्टर के घर जाने की वायरल वीडियो ने स्वास्थ्य सुविधाओं की खोल दी पोल

 स्ट्रेचर से डॉक्टर के घर जाने की वायरल वीडियो ने स्वास्थ्य सुविधाओं की खोल दी पोल


बैकुंठपुर -  कोरिया जिले में स्वास्थ्य विभाग की अव्यवस्था किसी से छुपी नही हैं फिर भी अधिकारी बेहतर सुविधाएं मिलने का दावा कर रहे किन्तु जिला हॉस्पिटल में  डॉक्टर के नही होने से ईलाज की सुविधा  लेने जिला हॉस्पिटल के स्ट्रेचर से डॉक्टर के घर जाने की वायरल वीडियो ने जिले के स्वास्थ्य सुविधाओं की पोल खोल कर रख दी हैं। 

जहा अब जिले में  बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं नही  मिलने से  आशा महेश साहू उपाध्यक्ष जनपद पंचायत बैकुण्ठपुर ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि जिला चिकित्सालय बैकुण्ठपुर व पटना सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में इन दिनों स्वास्थ्य व्यवस्था लगभग चरमरा सी गई है व डॉक्टरों के द्वारा अपने निजी आवासों पर  मोटी रकम लेकर इलाज किया जा रहा है जिससे आम जनो को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है डॉक्टरों की लापरवाही की वजह से लगभग जिला अस्पताल में रोज मौते हो रही है। अगर स्वास्थ्य व्यवस्था तत्काल सुधार नहीं कराया गया तो आंदोलन हेतु बाध्य होना पढ़ेगा ।

वही आशा महेश साहू ने आरोप लगाया कि  जब से जिले में स्वास्थ्य अधिकारी  कोरिया  शर्मा जी को प्रभारी बनाया गया हैं इनके  द्वारा  स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ाने के बजाय सिर्फ नियुक्ति व खरीदी में ज्यादा ध्यान दिया जाता है जिसमे खूब कमिसन व कमाई किया जा सके इनका स्वास्थ्य व्यवस्थाओं के प्रति रुचि नहीं रहती है जिससे पूरे  जिले में स्वास्थ्य व्यवस्था में प्रश्न चिन्ह लगा हुआ है !

।जब कि कोरिया जिले में कुछ दिन पहले ही  मुख्यमंत्री के हाथो 50 लाख के नये सर्वसुविधा युक्त जिला अस्पताल की सौगात मिली है वहीं  6 मई को बैकुण्ठपुर जिला अस्पताल का एक विडियो वायरल हुआ जो एक बार फिर स्वास्थ्य सुविधाओं की पोल खोल करके रख दी ऐसे में  इस प्रकार का दृश्य दिखना सही नही  है।

वायरल विडियो का सच यह है कि एक मरीज जिला अस्पताल बैकुण्ठपुर में 6 मई को 11  बजे   के  बाद जिला अस्पताल  आया पर डॉक्टर नहीं होने की वजह से मरीज व उसके परिजन सुबह से लेकर शाम तक इंतजार करते रहेआखिरकार मरीज की हालत देखते हुये अस्पताल के स्टाप के कहने पर अस्पताल से डॉक्टर के घर  करीब 300 मीटर का सफर कर मरीज को स्ट्रैचर में लिटाकर डॉक्टर के घर तक जाना पड़ा पर वहां पर भी उसका उपचार नहीं हुआ !

डॉक्टर ने उसे यह कहते हुये वापस भेजा की आप अस्पताल जाईये जिस डॉक्टर की ड्यूटी है वह आकर देखेगा। अस्पताल से मरीज को डॉक्टर के घर ले जाने के दौरान उसका विडिया बनाया गया और उस विडियों को सोशल मिडिया पर वायरल किया गया। जब कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री यानी के काका सरगुजा संभाग के दौरे पर है स्वास्थ्य मंत्री याने की टीएस सिंहदेव सरगुजा से आते है।

दिग्गज जनप्रतिनिधियों के होने के बावजुद जिस प्रकार स्वास्थ्य विभाग के व्यवस्था की विडियों वायरल हुयी है उससे तरह-तरह की बाते होने लगी है अब सवाल यह उठ़ता है कि जहां मुख्यमंत्री शिकायतों पर विकेट गिरा रहे है क्या इस विडियो को देखने के बाद सीएमएचओ का विकेट गिर पायेगा !