breaking news New

कलेक्टर ने अधिकारियों की वर्चुअल मीटिंग में कोरोना नियंत्रण कार्यो की समीक्षा की, एंटीजन टेस्ट के अलावा आर.टी.पी.सी.आर. जांच भी अधिक हो

कलेक्टर ने अधिकारियों की वर्चुअल मीटिंग में कोरोना नियंत्रण कार्यो की समीक्षा की, एंटीजन टेस्ट के अलावा आर.टी.पी.सी.आर. जांच भी अधिक हो

गरियाबंद।  कलेक्टर निलेशकुमार क्षीरसागर ने आज अधिकारियों की वर्चुअल मीटिंग में जिले में कोरोना नियंत्रण कार्यो की समीक्षा की, और अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। कलेक्टर ने कहा कि कोरोना नियंत्रण हेतु लोगों को ट्रेस कर अधिक से अधिक टेस्टिंग करना होगा। अभी तक जिले में एंटीजन टेस्ट के माध्यम से धनात्मक मरीजों की पहचान हुई है। एंटीजन टेस्ट के साथ ही आर.टी.पी.सी.आर जांच भी अधिक संख्या में करना होगा। उन्होंने कहा कि आदमी को सिर दर्द, बुखार या बदन दर्द आदि कोई भी परेशानी हो उपचार के पहले कोविड टेस्ट कराई जाये। कलेक्टर ने सभी एस.डी.एम को संबंधित क्षेत्र में कोरोना जांच को फोकस करते हुए निर्धारित लक्ष्य से अधिक लोगो का कोरोना जांच कराने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि जिस क्षेत्र से पहले अधिक धनात्मक केस आ रहे थे लेकिन अब केस में कमी आयी है। वहां भी रेंडम जांच कराई जाये।  कलेक्टर ने कहा कि अस्पतालों में मरीजों को रिफर करने का एक अच्छा सिस्टम बने, बी.एम.ओ एवं सी.एम.एच.ओ. आवश्यक पहल सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि कोरोना नियंत्रण के संबंध में शासन स्तर से प्राप्त अन्य जिलों का फीडबैक का अधिकारी भलि-भांति अध्ययन कर लेवें। इसी तर्ज पर जिले में भी कार्य करना है।

कलेक्टर ने कहा कि सभी एस.डी.एम, सी.एम.एच.ओ और बी.एम.ओ यह सुनिश्चित कर लेवें कि मितानिनों के पास कोरोना दवाई कीट उपलब्ध रहे। आवश्यकता के अनुसार ऑक्सीमीटर की खरीदी कर मितानिनों को भी ऑक्सीमीटर उपलब्ध कराई जाये। होम आइसोलेशन में  रहने वालों को पर्याप्त मात्रा में दवाई उपलब्ध कराई जाये। साथ ही बड़े गावं या कस्बाई क्षेत्र के आइसोलेशन में रहने वालों पर निगरानी रखी जाये। ऐसे लोगों को निर्धारित समयावधि पूर्ण होते तक आइसोलेट किया जाये। कलेक्टर ने कहा कि शासन के निर्देश का इंतजार किये बगैर 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के वैक्सीनेशन हेतु जिले में मतदाता सूची अनुसार सूची बनाने का कार्य प्रारंभ हो,साथ ही प्रारंभिक तौर पर 01,02 एवं 03 मई तक वैक्सीनेशन हेतु कार्य योजना तैयार कर ली जाये।

कलेक्टर ने अधिकारियों को 45 से अधिक वर्ष आयु के सभी लोगों को प्रथम एवं द्वितीय डोज वैक्सीन लगाने के कार्य में प्रगति लाने के निर्देश दिये। उन्होंने स्थानीय जनप्रतिनिधियों के सहयोग से लोगो को जागरूक कर वैक्सीन लगाने का कार्य समय पर पूर्ण कराने कहा। जिले के कोविड सेन्टरों में आवश्यकता के अनुरूप ऑक्सीजन बेड बढ़ाने हेतु जिला पंचायत सी.ई.ओ के मार्गदर्शन में सी.एम.एच.ओ और सभी एस.डी.एम को आवश्यक पहल करने निर्देशित किया गया। इस अवसर पर अपर कलेक्टर जे.आर. चौरसिया, सी.एम.एच.ओ डॉ. एन.आर नवरत्न, डी.पी.एम डॉ. रीना लक्ष्मी उपस्थित थी। तथा जिले के सभी एस.डी.एम , सभी जनपद सी.ई.ओ, सभी बी.एम.ओ और विकासखंड़ो के लिए नियुक्त जिला स्तर के सभी नोडल अधिकारी वर्चुअल मीटिंग में ऑनलाईन जुड़े थे।