breaking news New

अंग्रेजी को बोलचाल में लाने और झिझक दूर करने इंग्लिश स्कीट कार्यक्रम

अंग्रेजी को बोलचाल में लाने और झिझक दूर करने इंग्लिश स्कीट कार्यक्रम

महासमुंद।  जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान में अंग्रेजी भाषा को बोलचाल में लाने एवं झिझक दूर करने के लिए इंग्लिश स्कीट (प्रहसन) कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

लगभग 3 घंटे के अलग-अलग अंग्रेजी लघु प्रहसनों में प्रथम एवं द्वितीय वर्ष के छात्राध्यापकों ने बढ़-चढक़र हिस्सा लेते हुए अंग्रेजी भाषा को सीखने में रुचिकर बनाया। इस अवसर पर डाइट प्राचार्य मीना पाणिग्राही, सहायक प्राध्यापक अरुण प्रधान के सिंग, कार्यक्रम के निर्देशक व्याख्याता राजेश चंद्राकर, स्क्रीप्ट राइटर (पटकथा लेखक) प्रकाश प्रधान ने कहा कि अंग्रेजी भाषा शिक्षण में झिझक दूर होना जरूरी है।

इसे इस तरह मनोरंजनात्मक कार्यक्रमों के माध्यम से आसानी से बोलचाल में लाते हुए सरल बनाया जा सकता है। प्राचार्य मीना पाणिग्राही ने कहा कि इस तरह के नवाचार से भाषाई ज्ञान में वृद्धि कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि डाइट स्तर पर यह अनूठा प्रयोग छात्राध्यापकों के लिए लाभदायी साबित होगा।

उद्घाटन सत्र का संचालन करते हुए साहित्यिक एवं सांस्कृतिक प्रभारी टेकराम सेन चमक ने कहा कि बच्चों का उत्साह अंग्रेजी सीखने के प्रति ललक लघु नाट्यिका का स्क्रीप्ट राइटिंग एवं निर्देशन डाइट महासमुंद के लिए मील का पत्थर साबित होगा। सात अलग-अलग थीम पर प्रहसन का मंचन किया गया, इसमें ग्रुप लीडर, समीक्षा गजपाल, मोनिका यादव, गीतांजली चंद्राकर, तनीषा पटेल, संध्या ठाकुर, सेबा मन्नाडे, विभा पटेल रहे।

छात्र परिषद की ओर से उदय साव, लक्ष्मी धु्रव, मोनिका पटेल, त्रिलोचन खडिय़ा, दीक्षा चंद्राकर, अंजू ध्रुव, भोजराज यादव, रत्न मंजरी कागजी, चांदनी, लक्ष्मी, मिथिलेस, रिंगेश, धनेश्वरी, तपस्विनी, ट्रिंकल, हेमा, रेणुका, पूजा, महेश्वरी, वंदना, देवेन्द्र, हेमलता, दिव्या, प्रभा, मनीषा, खगेश्वरी, सदानंद, अजय, कौशिल्या, मीना, दीपिका, पारसमणी, योगिता, द्रोपदी, कविता, सरोजनी, फूलेश्वरी, खुशबू सहित समस्त छात्राध्यापकों ने बढ़-चढकऱ भाग लेते हुए अंग्रेजी भाषा की सहजता के लिए योगदान दिया।

आकर्षक एवं प्रेरणादायी कार्यक्रमों की प्रस्तुति पर व्याख्यातागण अमरदास कुर्रे, यूडी शर्मा, संतोष साहू, कमलेश पाण्डेय, सुमन दीवान, किरण कन्नौजे, दुर्गा सिन्हा, जीवन लाल डहरिया, त्रिलोत्मा प्रधान, ईश्वर चंद्राकर सहित कार्यालयीन स्टाफ से सुनील साहू, योगेन्द्र पांडे, नागेश, प्रदीप, राधा, मीना, गरिमा, आकांक्षा, व्ही चंद्राकर, अजय, उदित, हीरामन, छोटू सभी ने हर्ष जताया। कार्यक्रम का संचालन साहित्यिक सांस्कृतिक प्रभारी टेकराम सेन, समीक्षा गजपाल, मोनिका यादव एवं आभार प्रदर्शन एडी कुर्रे, दुर्गा सिन्हा ने किया।