breaking news New

NMDC बचेली काॅम्प्लेक्स में सतर्कता जागरूकता सप्ताह का समापन समारोह सम्पन्न

NMDC बचेली काॅम्प्लेक्स में सतर्कता जागरूकता सप्ताह का समापन समारोह सम्पन्न

बचेली, 3 नवंबर। एनएमडीसी लिमिडेट, बैलाडीला आयरन ओर माइन, बचेली काॅम्प्लेक्स में दिनांक 2 नवम्बर सोमवार को प्रशासनिक भवन के सम्मेलन कक्ष में सतर्कता जागरूकता सप्ताह का समापन अधिषासी निदेशक ए के प्रजापति के मुख्य आतिथ्य में सम्पन्न हुआ। सतर्कता अधिकारी एच एस मुदुली ने दिनांक 27.10.2020 से दिनांक 2.11.2020 तक वर्चुअल मोड में आयोजित सर्तकता जागरूकता सप्ताह के दौरान आयोजित की गई। विभिन्न कार्यक्रमों एवं प्रतियोगिताओं की जानकारी उपस्थितों को प्रदान की। सतर्कता अधिकारी द्वारा उपस्थितों को जानकारी प्रदान की गई कि सतर्कता विभाग द्वारा सम्पूर्ण कार्यक्रम कोविड - 19 के दिशा - निर्देशों का पालन करते हुए सम्पन्न की गई। तत्पश्चात उन्होंने बचेली काॅम्प्लेक्स परियोजना के सर्तकता विभाग की गतिविधियों की जानकारी प्रदान की गई। उन्होंने इस वर्ष आयोजन का विषय ‘‘सतर्क भारत समृद्ध भारत‘‘ पर विस्तृत रूप से प्रकाश डालते हुए उपस्थितों को जानकारी प्रदान की।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि ए के प्रजापति द्वारा सभी अधिकारी कर्मचारियों के अपने कार्यकलापों में और अधिक पारदर्शिता लाने की सलाह दी। साथ ही साथ उन्होंने सर्तकता विभाग को और अधिक प्रशिक्षण व वर्कशॉप आयोजित कहा  जिससे अधिकारी व कर्मचारीगण सतर्कता विभाग के नियमों को अच्छे समझकर उन्हें अंगीकार कर सकें।

तत्पश्चात मुख्य महाप्रबंधक (उत्पादन) ने अपने उद्बोधन में कहा कि सभी अधिकारी एवं कर्मचारियों को अपने दैनिक कार्यालयीन क्रियाकलापों में सतर्कता नियमों का पालन करना चाहिए। उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि अधिकतर प्रकरणों में अधिकारी कर्मचारी जानबुझकर गलती नहीं करते हैं, कभी-कभी नियमों की जानकारी के अभाव में या सद्भवना पूर्वक कार्य करने पर त्रुटि हो जाती है।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि ने अपने उद्बोधन में ‘‘सर्तक भारत समृद्ध भारत‘‘ पर अपने विचार व्यक्त किए एवं सतर्कता विभाग के क्रियाकलापों की सराहना की। तत्पष्चात सर्तकता जागरूकता सप्ताह के दौरान आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेताओं को मुख्य अतिथि के करकमलों से पुरस्कार वितरित किए गए। उप महाबप्रबंधक (सीएसआर एवं सीसी) के धन्यवाद ज्ञापन करते हुए बताया कि भारत की जनसंख्या वृद्धि भारत में भ्रष्टाचार का एक बहुत बड़ा कारण है। लोग वित्तीय असुरक्षा के कारण भ्रष्टाचार करते हैं। यदि जनसंख्या पर नियन्त्रण किया जाए तो भ्रष्टाचार पर भी कफी हद तक नियन्त्रण पाया जा सकता है। इसी के साथ ही सतर्कता जागरूकता सप्ताह का समापन समारोह सम्पन्न हुआ।