breaking news New

निगम.मण्डल.आयोग : सिंधी समाज में आक्रोश..अभी तक जारी लिस्ट में एक भी नियुक्ति सिंधी समाज से नही..समाज ने कांग्रेस नेताओं की​ लिस्ट जारी की..

निगम.मण्डल.आयोग : सिंधी समाज में आक्रोश..अभी तक जारी लिस्ट में एक भी नियुक्ति सिंधी समाज से नही..समाज ने कांग्रेस नेताओं की​ लिस्ट जारी की..

रायपुर. अब तक राज्य सरकार द्वारा की गई निगम.मण्डल.आयोग में हुई नियुक्तियों को लेकर सिंधी समाज आक्रोशित है. उसका मानना है कि अभी तक जितनी भी नियुक्तियां हुई हैं, सिंधी समाज के किसी भी व्यक्ति को स्थान नही दिया गया है जबकि कांग्रेस की सरकार बनवाने में इस समाज का महत्वपूर्ण योगदान रहा है.

सिन्धु शक्ति के संस्थापक अध्यक्ष किशोर आहूजा ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी विगत कई वर्षों से सिंधी समाज की उपेक्षा कर रही है जो कि उचित नहीं है. उन्होंने कहा कि अब तक जो हुआ, उसे नकारते हुए राज्य सरकार से मांग करता हूँ कि वर्तमान में सिंधी समाज के सभी कांग्रेसजनों को वरिष्ठता के आधार पर कांग्रेस के समाजसेवियों को आगामी होने वाले निगम मंडल की नियुक्तियों में व संगठन के विस्तार में समाजजनों को उचित महत्व देकर समाज को गौरव प्रदान करें.

श्री आहूजा ने आगे कहा कि समाज के अनेक सक्रिय कांग्रेसजन हैं जिन्होंने संघर्ष के 15 वर्षों में निरंतर पार्टी की सेवा की है व सामाजिक आयोजनों में पार्टी के नेताओं को विशेष सम्मान दिया है, इनमें सर्वश्री रमेश वर्ल्यानी, आनंद कुकरेजा, अनेश बजाज, सुभाष बजाज, दौलत रोहरा, राजू तारवानी, अमर गिदवानी, लक्षमण जगवानी, राम गिदवानी, सुरेश धींगानी, अजित कुकरेजा, विक्की वाधवानी, सुनील कुकरेजा इत्यादि हैं लेकिन वर्तमान में कांग्रेस पार्टी में उपेक्षित हैं और अब सरकार भी उपेक्षा कर रही है.

जबकि सिंधी समाज के कई नेता मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव, विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम सहित कई नेताओं के संपर्क में हैं तथा सहयोग भी करते आए हैं लेकिन वर्तमान में उनकी आवाज सत्ता व संगठन तक नहीं पहुंच पा रही है. सरकार को चाहिए कि वह आने वाली निगम.मण्डल.आयोग की नियुक्तियों में सिंधी समाज को अधिक से अधिक महत्व दे ताकि समाज का विश्वास कांग्रेस पर बना रहे. श्री आहूजा ने आगे कहा कि जरुरत पड़ने पर सभी समाजजनों को साथ लेकर मुख्यमंत्री व अन्य वरिष्ठ नेताओं को ज्ञापन भी दिया जाएगा. यह मांग उठाने वालों में राधा राजपाल, विनोद टेकवानी, सुनील छतवानी, दीपक कृपलानी और अजय क्षत्रे शामिल हैं.