breaking news New

जर्जर सड़कों के खिलाफ व्यापारियों का बंद

जर्जर सड़कों के खिलाफ व्यापारियों का बंद


जांजगीर। चंद्रपुर में सुबह से बंद का व्यापक असर दिख रहा है। बस स्टैंड स्थित दुकानें भी सुबह से बंद हैं।  जांजगीर जिले के चंद्रपुर में बदहाल सड़कों को लेकर मंगलवार को व्यापारियों ने बंद बुलाया है। जिसका व्यापक असर देखने को मिल रहा है। सुबह से यहां शहर की 150 से ज्यादा दुकानें बंद हैं। दुकानें बंद होने की वजह से आर्थिक गतिविधियों पर भी काफी असर पड़ा है। बंद को शहर के व्यापरियों के अलावा आम लोगों का भी समर्थन है। व्यापारियों ने दुकान बंद करने का फैसला 7 नवंबर को एक बैठक के बाद लिया था।
दरअसल यहां चंद्रपुर नगर से होकर गुजरने वाली नेशनल हाईवे 158 में लंबे समय से अव्यवस्था है। यहां की सड़कें पूरी तरह से जर्जर हो चुकी हैं। जिसकी वजह से क्षेत्र के लोग लंबे समय से रोड को दुरुस्त करने की मांग कर रहे हैं। इसके लिए लोगों ने प्रशासन से भी कई बार गुहार लगाई थी। इसके बाद अब तक किसी ने इस पर ध्यान नहीं दिया था।


सड़क पर उड़ रहे धूल के गुबार
7 अक्टूबर को बैठक के बाद भी व्यापारियों ने प्रशासन को ज्ञापन सौंपा था। जिसके बाद बंद का फैसला लिया गया था और कहां गया था कि बंद के बाद भी यदि व्यवस्था नहीं सुधरती है तो आगे भी विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा। लोगों का कहना है कि जर्जर सड़क की वजह से आए दिन इस मार्ग पर दुर्घटनाएं होती हैं। चक्काजाम और उग्र प्रदर्शन भी कई बार हुए। फिर भी कोई ध्यान नहीं दे रहा। लोगों का कहना था कि पिछले दो महीने से इस इलाके में फ्लाई ऐश का भी उपयोग काफी बढ़ गया है। इसी वजह से रोड में धूल के गुबार भी उड़ते हैं।
जर्जर सड़क को लेकर लोगों में कितनी नाराजगी है, उसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि आम लोगों के साथ व्यापारियों ने खुद से दुकानें बंद करने का फैसला किया था। चंद्रपुर क्षेत्र में मंदिर परिसर व्यापारी समिति, अग्रवाल व्यापारी संगठन और बस स्टैण्ड व्यापारी संगठन ने बंद को पूरा समर्थन दिया है।
 इधर, इस मामले में जब हमने विभाग के अधिकारियों से बात की गई तो उन्होंने बताया कि किसी ग्रोवर कंपनी को काम का ठेका दिया गया। मगर कंपनी समय पर काम नहीं कर रही है। जिसकी वजह से परेशानी हो रही है। इस पर हमने जब अधिकारियों से पूछा कि आखिर कंपनी काम क्यों नहीं कर रही तो उन्होंने कहा कि वह इस संबंध में फोन पर जानकारी नहीं दे सकते।