breaking news New

अजीत डोभाल से मिले अमेरिकी रक्षा मंत्री ऑस्टिन : हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चुनौतियों पर साथ काम कर रहे दोनों देश

अजीत डोभाल से मिले अमेरिकी रक्षा मंत्री ऑस्टिन : हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चुनौतियों पर साथ काम कर रहे दोनों देश

नई दिल्ली ।  राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और अमेरिकी रक्षामंत्री लॉयड जेम्स ऑस्टिन के बीच शुक्रवार को परस्पर हित से जुड़े मुद्दों, रणनीतिक साझेदारी और सुरक्षा एवं रक्षा के अलग-अलग पहलुओं पर सहयोग को लेकर चर्चा हुई। जानकारी के मुताबिक इस दौरान हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चीन के आक्रामक व्यवहार सहित साझा चिंताओं पर भी चर्चा हुई। ऑस्टिन तीन दिन की भारत यात्रा पर शुक्रवार को नई दिल्ली पहुंचे। जो बाइडेन के राष्ट्रपति बनने के बाद किसी शीर्ष अमेरिकी अधिकारी का यह पहला भारत दौरा है।
अजीत डोभाल से मुलाकात को लेकर अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन ने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार डोभाल (अजीत डोभाल) के साथ पिछली रात काफी अच्छी मुलाकात रही। उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि हम दोनों देशों के बीच सहयोग की व्यापकता हमारे बीच महत्वपूर्ण रक्षा साझेदारी के महत्व को दिखाती है। हिंद-प्रशांत क्षेत्र में उभरी गंभीर चुनौती के समाधान के लिए हम साथ काम कर रहे हैं। इसके अलावा उन्होंने एक और ट्वीट में लिखा कि आज (शनिवार) महत्वपूर्ण बैठकों का इंतजार है।
शुक्रवार को लॉयड ऑस्टिन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अंतरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय एवं आपसी हितों पर चर्चा की। इसके बाद पीएम मोदी ने ट्वीट करके कहा कि भारत और अमेरिका अपनी रणनीतिक साझेदारी को लेकर प्रतिबद्ध हैं, जो दुनिया की बेहतरी के लिए ताकत है। पीएम मोदी और लॉयड ऑस्टिन के बीच हुई चर्चा के बाद प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक बयान में कहा कि अमेरिकी रक्षामंत्री ने द्विपक्षीय रक्षा संबंध को मजबूत करने की वाशिंगटन की प्रतिबद्धता को दोहराया और हिंद-प्रशांत क्षेत्र और उससे परे शांति, स्थिरता और संपन्नता के लिए रणनीतिक साझेदारी को और मजबूत करने की 'तीव्र इच्छा व्यक्त की।
पीएम मोदी ने ट्वीट किया कि अमेरिकी रक्षामंत्री लॉयड ऑस्टिन से आज मुलाकात करके खुशी हुई। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन को अपनी शुभकामनाएं दी। भारत और अमेरिका हमारी रणनीतिक साझेदारी को लेकर प्रतिबद्ध हैं जो दुनिया के लिए अच्छी ताकत है। अमेरिकी रक्षा मंत्री की इस यात्रा को जो बाइडन प्रशासन द्वारा अपने करीबी सहयोगियों और क्षेत्र में साझेदारों के साथ मजबूत प्रतिबद्धता के तौर पर देखा जा रहा है।
भारत पहुंचने पर शुक्रवार को ऑस्टिन ने ट्वीट किया कि यहां भारत में आकर रोमांचित हूं। दोनों देशों के बीच सहयोग की गहराई हमारी व्यापक रक्षा साझेदारी के महत्व को दर्शाती है और हम हिंद-प्रशांत क्षेत्र के सामने आने वाली चुनौतियों पर मिलकर काम कर सकते हैं। वहीं अमेरिकी सरकार ने भी एक बयान में कहा कि रक्षा मंत्री ऑस्टिन ने हिंद-प्रशांत क्षेत्र में भारत के नेतृत्व पर भरोसा जताया और इलाके में समान विचार रखने वाले साझेदारों से बढ़ रहे संबंध से साझा लक्ष्य को प्रोत्साहन मिलेगा।