breaking news New

250 सीसीटीवी फुटेज 500 मोबाइल नंबरों के टावर और 24 घंटे के अंदर अपनी गर्लफ्रेंड को खुश करने वाले लुटेरे गिरफ्तार

250  सीसीटीवी फुटेज  500 मोबाइल नंबरों के टावर और 24 घंटे के अंदर अपनी गर्लफ्रेंड को खुश करने वाले लुटेरे गिरफ्तार


भिलाई, 4 जून। चार युवकों ने अपनी  अय्याशी एवं गर्लफ्रेंड को प्रभावित  करने  एक कार चालक के साथ  चाकू की नोक पर   कार मोबाइल छीनकर  भाग गए l प्रार्थी की शिकायत पर भिलाई 3 पुलिस में 24 घंटे के अंदर ही इन लुटेरों को गिरफ्तार कर इनके पास से कार,मोबाइल ,पर्स ,एटीएम ,ड्राइविंग लाइसेंस , आधार कार्ड, पेन कार्ड एवं नकदी रुपए बरामद कर लिया हैl 

आयोजित पत्रकार वार्ता में एसपी प्रशांत ठाकुर ने बताया कि  2 जून पंचशील नगर पूर्व चरोदा निवासी के एएस शंकर राव अपनी कार सीजी 07 बीडब्ल्यू 6438 दुर्ग से वापस आते रात 12.45 बजे बालाजी मार्बल एण्ड टाईल्स चरोदा के पास कार रोककर मोबाइल पर परिचित से बातचीत कर रहे थे। इस दौरान दो बाइक में चार युवक आए और एक युवक कार को ड्राईवर साईड से खटखटा रहा था। जिसे देख शंकर ने अपनी कार का कांच को नीचे कर पूछने लगा। इसके बाद युवकों ने शंकर से गली गलौज करना शुरू कर दिया। इस दौरान शंकर कार के बाहर निकल गया। मौका पाते ही एक युवक कार लेकर फरार हो गया। वही तीन युवकों ने शंकर से मारपीट कर मोबाइल लूट कर रायपुर की ओर भाग निकले। मामले की शिकायत के बाद पुलिस ने जांच शुरू की और 24 घंटों के भीतर ही पुलिस ने समीर मानिकपुरी (20) जोन 3 चरोदा, दीप सिंह शेरगिल उर्फ दीपक (24) सुभाष चौक खुर्सीपार, आर्शीवादम मणिक्यम मानवेल उर्फ छोटू (21) नवीन नगर चरोदा और ओंकार निषाद उर्फ अभय (20) ग्राम अहिवारा को गिरफ्तार किया गया।

ऐसे पहुंची पुलिस लुटेरों तक

पुलिस ने लूटी गई कार से किसी गंभीर घटना की आशंका को देखते हुए तत्काल 294,505,394 के तहत जुर्म दर्ज किया और आरोपियों की तलाश शुरू कर दी। एएसपी संजय ध्रुव, सीएसपी विश्वास चंद्राकर के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी विनय सिंह बघेल व उनकी टीम ने घटना को ट्रेस किया। पुलिस ने बताया कि आरोपियों को पकडऩे के लिए पहले टीम बनाई गई उसके बाद आसपास में लगे सीसी कैमरे को खंगाला गया। 250 अलग अलग मार्गों पर सीसीटीवी फुटेज देखे गए। वही 500मोबाइल नंबरों के टावर  डमप के माध्यम से विश्लेषण किया गया l इसके अलावा एसपी श्री ठाकुर ने बताया कि लूटेरों को पकडऩे के लिए पुलिस की 5 टीमों ने संयुक्त प्रयास किया। टीम के संयुक्त प्रयास से आरोपियों का अहम इनपुट के आधार पर पुलिस को सफलता मिली। सीएसपी विश्वास चंद्राकर ने बताया कि इन्हें  आरोपियों की दोस्ती जेल में हुई थी इन चारों के खिलाफ पहले से ही अलग-अलग  में थानों में अपराध पंजीबद्ध हैl