breaking news New

जीवनदीप समिति कर्मचारियों को समर्थन दे अरुण पाण्डेय ने उड़ाई प्रशासन की नींद

 जीवनदीप समिति कर्मचारियों को समर्थन दे अरुण पाण्डेय ने उड़ाई प्रशासन की नींद

 दंतेवाड़ा । जीवन दीप समिति के सदस्यों ने अपने वेतन विसंगतियों व अन्य विषयों को लेकर प्रशासन को अनिश्चित कालीन हड़ताल में जाने की चेतावनी दी है। इनके हड़ताल को अरुण पाण्डेय् ने  अपना समर्थन देकर प्रशासन की नींद उड़ा दी है।

गौरतलब होकि वर्ष 2005 से जीवन दीप समिति के माध्यम से कार्यरत कर्मचारियों की वेतन विसंगतियां दूर नही हुई है। जीवनदीप समिति कर्मचारी संघ के सदस्यों ने बताया कि उन्होंने सिविल सर्जन व कलेक्टर को कई बार पत्राचार किया है लेकिन उनकी समस्याओं पर किसी का ध्यान नही गया।

वेतन विसंगतियों को दूर नहींकरने के कारण कम वेतन में काम करने मज़बूर हैं कर्मचारी

जीवनदीप समिति के सदस्यों के अलावा इलेक्ट्रिशियन, स्वीपर, लैब अटेंडर, गार्ड, माली, डाटा एंट्री ऑपरेटर, चौकीदार, आया, वार्ड बॉय, प्लम्बर, धोबी इत्यादि पदों पर मात्र 1500 - 4000 से 6000 तक के वेतन में सैकड़ो कर्मचारियों को काम करना पड़ रहा है।

अरुण पाण्डेय् ने बताया कि सामान्य दिनों के अलावा कोविड काल में भी इन कर्मचारियों ने 24 घण्टे 7 दिन की सेवा देकर उतने ही वेतन में मानव सेवा किया है। प्रशासन को उन्हें इसके लिए भी कोई अतिरिक्त भुगतान नही किया गया है। और उन्हें अनुरोध पर भी ध्यानाकर्षण न करना जीवनदीप समिति के कर्मचारियों के साथ भेदभाव पूर्ण रवैय्ये व प्रशासनिक उदासीनता को दर्शाता है। जिसपर प्रशासन का पुरजोर विरोध होगा व जीवनदीप समिति के कर्मचारियों की वेतन विसंगतियां दूर हों इसके लिए प्रशासन विचार करें यही हमारा प्रयास है। इसके लिए 09 दिसम्बर 2021 से कर्मचारियों के साथ अनिश्चित कालीन हड़ताल को उनका समर्थन है।