breaking news New

मलेरिया, डेंगू व फाइलेरिया की रोकथाम के लिए जागरुकता रथ रवाना

मलेरिया, डेंगू व फाइलेरिया की रोकथाम के लिए जागरुकता रथ रवाना

 राष्ट्रीय वेक्टर जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तहत जिले में विविध आयोजन

राजनांदगांव। राष्ट्रीय वेक्टर जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तहत जिले में मलेरिया, डेंगू व फाइलेरिया रोग उन्मूलन के लिए स्वास्थ्य विभाग के द्वारा दो दिवसीय विशेष जागरुकता अभियान चलाया गया। कोरोना संक्रमण से बचाव संबंधी सभी आवश्यक नियमों का पालन करने की अपील करते हुए जनजारूकता के प्रयास किए गए। रैली निकाली गई तथा विभिन्न क्षेत्रों में वेक्टर जनित रोगों से बचाव हेतु आवश्यक सावधानियों का प्रचार-प्रसार करने के लिए सीएमएचओ कार्यालय से जागरुकता रथ भी निकाला गया है। 

दो दिवसीय विशेष जागरुकता कार्यक्रम के अंतर्गत मलेरिया, डेंगू व फाइलेरिया रोगों से कैसे बचा जाए, इस बारे में लोगों को जागरुक करने के लिए विशाल रैली रैली निकाली गई जिसमें रोगों से बचाव संबंधी प्रेरक नारे लगाए गए। इसी तरह जागरुकता रथ भी निकाला गया है जिसे मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथिलेश चौधरी व नगर निगम आयुक्त आशुतोष चतुर्वेदी ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस रथ में लगाए गए बैनर व फ्लैक्स में प्रेरक नारे लिखे हुए हैं, जिसके माध्यम से लोगों से अपील की जा रही है कि मच्छर न पनप सके, इसलिए घर के आसपास को साफ सुथरा रखें। पानी जमा न होने दें। कलेक्टर तारण प्रकाश सिन्हा के निर्देश पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथिलेश चौधरी के मार्गदर्शन में मलेरिया, डेंगू व फाइलेरिया रोग से बचाव के लिए आवश्यक एहतियाती सुरक्षा के उपाय किए जा रहे हैं। मलेरिया विभाग की जिला सलाहकार संगीता पांडेय ने बताया, विकासखंडों, संवेदनशील गांवों, महाराष्ट्र व मध्यप्रदेश के सीमावर्ती सभी गांवों, सीआरपीएफ, आईटीबीपी कैम्प, पुलिस चौकी जैसे अन्य स्थानों पर मलेरिया उन्मूलन के लिए कई गतिविधियां आयोजित की जा रही हैं। जिले के चिन्हित विकासखंड मानपुर, मोहला, खैरागढ़ व छुईखदान के अति संवेदनशील ग्रामों में मलेरिया, डेंगू एवं अन्य कीटनाशक बीमारियों से बचाव हेतु मच्छरदानी का उपयोग सुनिश्चित करने के लिए वर्ष 2021 में अब तक 96,958 मच्छरदानी का वितरण 1 एपीआई से अधिक के ग्रामों में किया जा चुका है। मच्छरदानी के उपयोग हेतु जनजागरूकता के लिए मितानिन भी आवश्यक जिम्मेदारी निभा रही हैं।

इस संबंध में राजनांदगांव के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथिलेश चौधरी ने बताया, राष्ट्रीय वेक्टर जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तहत मलेरिया, डेंगू व फाइलेरिया की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग के द्वारा हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। दो दिवसीय विशेष अभियान तथा गांधी जयंती के अवसर पर भी जनजागरुकता से संबंधित कार्यक्रम किए गए। रैली निकाली गई तथा जिला मुख्यालय से जागरुकता रथ रवाना किया गया है। उन्होंने अपील की है कि तेज बुखार, बदन दर्द, सिरदर्द, उल्टी, शरीर पर दाने, नाक से खून आना या उल्टी में खून आना जैसी कोई भी शिकायत होने पर तुरंत निकट के स्वास्थ्य केंद्र में जांच करवाएं, ताकि शीघ्र बेहतर उपचार किया जा सके। साथ ही हमेशा मच्छरदानी लगाकर सोने की आदत डालें।