breaking news New

इटावा में बिजली विभाग की लापरवाही से टूटे 11 हजार तार

इटावा में बिजली विभाग की लापरवाही से टूटे 11 हजार तार

इटावा।  उत्तर प्रदेश में इटावा जिले के फ्रैंड्स कालोनी इलाके में बिजली विभाग की लापरवाही के चलते करंट लगने से एक आदिवासी मजदूर की मौत हो गई।

सुबह साढे सात बजे के आसपास रेलवे लाइन के किनारे रहने वाले मध्यप्रदेश के आदिवासी मजदूर सरकारी हैण्डपम्प से पानी भरने आया जैसे ही उसने पानी भरने के लिए हैंडपंप के हैंडल को नीचे किया वैसे ही करंट लगने से उसमें चिपक गया और एक जोर से आवाज के बाद उसकी मौत हो गई । मरने वाले मजदूर की पहचान गोविंद बसोर के रूप मे हुई है जो मध्यप्रदेश के जिला सिंगरोली के थाना बरहन ग्राम शासन का रहने वाला है ।

समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व सांसद प्रेमदास कठेरिया प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष ,पूर्व सांसद रघुराज सिंह शाक्य और माकपा नेता मुकुट सिंह का भी आवास है क्योंकि बिजली विभाग पर लापरवाही का आरोप लगा है इसलिए यह नेता भी अपने अपने समर्थकों के साथ में आदिवासी मजदूर परिवार के साथ मदद के लिए खड़े हो गए । दोनों नेताओं ने संयुक्त रूप से पांच लाख की आर्थिक सहायता के साथ साथ परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दिए जाने की मांग की है ।