breaking news New

पंजाब में पीएम काफिले को रोकने के मामले पर भाजपाइयों ने थाना प्रभारी को सौंपा ज्ञापन

पंजाब में पीएम काफिले को रोकने के मामले पर भाजपाइयों ने थाना प्रभारी को सौंपा ज्ञापन

मुख्यमंत्री व तत्कालिन डी.जी.पी. पर एफआईआर दर्ज करने की मांग की

कृष्णा नायक दोरनापाल

दोरनापाल - 05 जनवरी 2022 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के काफिले को रोकने की घटना पर भाजपा ने निशाना साधते हुए सोमवार को भाजपाई दोरनापाल थाने पहुंचे और विज्ञप्ति देकर पंजाब सीएम व डीजीपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की इस दौरान भाजपा जिला महामंत्री संजय शुक्ला, जिला उपाध्यक्ष कोसी ठाकुर,जिलाध्यक्ष अनुसूचित जनजाति अरुण सुनानी ,मण्डल अध्यक्ष दुलाल शाह मौजूद रहे ।

भाजपा ने आरोप लगाते हुए कहा है कि पंजाब प्रदेश के फिरोजपुर शहर में सभा को संबोधित करने बठिंडा एयरपोर्ट से सड़क मार्ग द्वारा जा रहे थें तभी मार्ग में पंजाब के मुख्यमंत्री व तत्कालिन डी.जी.पी. द्वारा रचित षड्यंत्रकारी आंदोलनकारियों के द्वारा 20 में 25 मिनट रोककर वी.वी.आई.पी. सुरक्षा को तार - तार करते प्रधानमंत्री जी के जान पर खतरा पैदा किया गया ।

पंजाब के मुख्यमंत्री अपने आकाओं के निर्देश पर यह कुचक रचने का कुत्सित प्रयास किया है जबकि जहाँ काफिला रोका गया था वहाँ से पाकिस्तान का बार्डर जुड़ा हुआ है । जिसमें बड़ी घटना घटित हो सकती थी । पंजाब शासन व प्रशासन वी.वी.आई.पी. सुरक्षा कराने में अक्षम साबित हुआ है । मंडल अध्यक्ष दुलाल शाह ने कहा दुर्भाग्य की बात है कि कांग्रेस के देश भर के नेता ऐसी घटनाओं के निंदा करने के बजाय अक्षम शासन प्रशासन को बचाते हुए घटना पर विवादित व हास्यस्पद निदनीय बयान दे रहे है ।

भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा जिलाध्यक्ष अरुण सुननी ने कहा भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा छत्तीसगढ़ कड़े शब्दों में भर्त्सना करते हैं । छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के द्वारा यह कहना कि प्रधानमंत्री के काफिले पर हमला तो नहीं हुआ है ? तथा यह राजनीतिक रंग है यह कहकर कांग्रेसियों के मन में देश के प्रधानमंत्री के खिलाफ पंडयंत्र का भाव स्पष्ट प्रतीत  होता है । सोमवार को अनुसुचित जाति मोर्चा व दोरनापाल मंडल द्वारा दोरनापाल थाने पहुंच  दोपहार 12.00 बजे के मध्य प्रथम सूचना रिपोर्ट ( FIR ) दर्ज करने की मांग की ।