breaking news New

वादाखिलाफी को दर्शाती है शिक्षक आंदोलन : सहायक शिक्षकों के आंदोलन को आम आदमी पार्टी का समर्थन

वादाखिलाफी को दर्शाती है शिक्षक आंदोलन : सहायक शिक्षकों के आंदोलन को आम आदमी पार्टी का समर्थन


तोकापाल ब्लॉक में शिक्षकों के प्रदर्शन स्थल पर पहुंच जिलाध्यक्ष ने दिया समर्थन

छत्तीसगढ़ / बस्तर ।  प्रदेश में पिछले  कई दिनों से सहायक शिक्षकों द्वारा अपने वेतन विसंगति संबन्धित मांग को लेकर राज्य भर में प्रदर्शन जारी है। बस्तर जिले के तोकापाल ब्लॉक में सहायक शिक्षक फेडरेशन द्वारा भी यह प्रदर्शन किया जा रहा है।

सहायक शिक्षकों के जायज़ मांगों को अपना समर्थन देने के लिए आम आदमी पार्टी की जिलाध्यक्ष तरुणा साबे बेदरकर तोकापाल ब्लॉक मुख्यालय में प्रदर्शन स्थल पर पहुंच कर पार्टी का समर्थन दिया। 

उन्होंने बताया कि भूपेश सरकार ने अपने घोषणा पत्र में वादा किया था कि सरकार बनते ही सहायक शिक्षकों को 10 दिन के अंदर उनकी वेतन विसंगतियों को दूर करते हुए उनकी समस्याओं को हल करेगी। लेकिन सरकार के 3 वर्ष पूर्ण होने के उपरांत भी राज्य भर के सहायक शिक्षकों द्वारा राज्य भर के सभी ब्लॉक में अनिश्चित कालीन धरना के लिए बाध्य हुए हैं।

राज्य में ऐसे ही शिक्षकों की भारी कमी है, जिनकी पूर्ति सरकार नही कर पा रही है। इसके बावजूद भी सहायक शिक्षकों के मांगों लर ध्यान ना देना सरकार की असंवेदनशील व वादाखिलाफी को दर्शाती है। साथ ही शिक्षा के प्रति भूपेश सरकार की दोहरी चरित्र को भी भलीभांति परिभाषित करती है।

उन्होंने कहा कि यदि सरकार जल्दी ही सहायक शिक्षकों के जायज़ मांगों पर ध्यानाकर्षण नही करती तब पार्टी के निर्देशानुसार ब्लॉक, जिला व राज्य स्तर पर सरकार के विरुद्ध उग्र प्रदर्शन करते हुए वादा खिलाफी के विरुद्ध आवाज़ बुलंद करेगी। 

जिस प्रकार 14580 शिक्षकों के न्याय हेतु आम आदमी पार्टी द्वारा लगातार 3 माह तक प्रदर्शम आंदोलन इत्यादि करते हुए सकारात्मक रिजल्ट मिलने तक संघर्ष करती रही इसी तरह आम आदमी पार्टी सहायक शिक्षकों के परिवार के साथ है समान काम पर समान वेतन सरकार के वाद खिलाफ़ी के खिलाफ उन्हें अपना समर्थन देते हुए अंतिम निर्णय तक संघर्ष में साथ रहेंगे।

इस दौरान जिलाध्यक्ष तरुणा साबे बेदरकर के साथ जगदलपुर विधान सभा अध्यक्ष शुभम सिंह, चित्रकोट विधानसभा अध्यक्ष सुखमन कुहरामी, ब्लॉक अध्यक्ष गुड्डू मंडावी, जय सिंह कश्यप, गणेश मंडावी, कुमारू मंडावी, हिड़मा पोयम, मुंगड़ू कुहरामी उपस्थित रहें।