breaking news New

बड़ी खबर : तालिबान ने दी भारत को खुली धमकी, अगर अफगानिस्तान में सेना भेजी तो अच्छा नहीं होगा

बड़ी खबर : तालिबान ने दी भारत को खुली धमकी, अगर अफगानिस्तान में सेना भेजी तो अच्छा नहीं होगा

काबुल। तालिबान इस समय अफगानिस्तान के बड़े हिस्से पर अपना कब्जा कर चुका है। हाल ही में उसने करीब 34 प्रांतीय राजधानियों को अपने काबू में कर लिया है। इस बीच तालिबान के प्रवक्ता ने पूरी दुनिया को यह भरोसा दिलाया है कि उसके लड़ाके किसी भी एंबेसी और राजदूतों को निशाना नहीं बनाएंगे। तालिबान के प्रवक्ता मोहम्मद सुहैल शाहीन ने अफगानिस्तान में भारत के कामों की सराहना की है, मगर सेना के रूप में भारत की एंट्री को लेकर चेताया भी है। 

प्रवक्ता सुहैल शाहीन ने कहा, 'सैन्य भूमिका से आपका मतलब क्या है? अगर वे अफगानिस्तान में सैन्य दखल देते हैं, तो मुझे नहीं लगता कि यह उनके लिए अच्छा होगा। उन्होंने अफगानिस्तान में दूसरे देशों की सैन्य मौजूदगी का भाग्य देखा है। यह उनके लिए खुली किताब है। शाहीन ने साथ ही कहा कि अफगान के लोगों या राष्ट्रीय परियोजनाओं को लेकर उनकी (भारत की) मदद, मुझे लगता है कि तारीफ के काबिल है। उन्होंने कहा, 'डैम, नेशनल प्रोजेक्ट्स, इंफ्रास्ट्रक्चर और कुछ भी जो अफगानिस्तान के विकास, इसके दोबारा निर्माण, आर्थिक समृद्धि और अफगानिस्तान के लोगों के लिए किए गए कामों की सराहना करते हैं।Ó

हिंदू और सिख समुदाय की सुरक्षा और पक्तिया प्रांत में हुए गुरुद्वारा वाले मामले पर शाहीन ने कहा, 'वहां पर झंडा सिख समुदाय ने हटाया था। उन्होंने उसे खुद हटाया था। जब मीडिया में खबरें आई थीं, तो हमने पक्तिया प्रांत में अपने अधिकारियों से बात की और उन्हें इसके बारे में बताया। इसके बाद हमारे सुरक्षा बलों ने गुरुद्वारा पहुंचकर परेशानी के बारे में पूछा।Ó उन्होंने कहा है कि समुदाय अपने धार्मिक कार्यक्रम कर सकता है।