breaking news New

नगरपालिका उपाध्यक्ष ने शाला में बाटे मास्क सेनेटाइजर और किताबे

नगरपालिका उपाध्यक्ष  ने शाला में बाटे मास्क सेनेटाइजर और किताबे

 

तिल्दा नेवरा।  कोरोना महामारी के कारण लंबे समय से बंद पड़े स्कूल खुलने के बाद निजी स्कूल संचालकों ने राहत की सांस ली। वहीं, स्कूल खुलने का इंतजार कर रहे बच्चों के चेहरे पर खुशी देखने को मिली।


सरकारी और निजी स्कूलों में कोविड-19 से बचाव के पूरे इंतजाम देखने को मिले। कक्षाओं में एक बेंच पर केवल एक ही बच्चा बैठाया गया। इसके अलावा सभी कमरों को सैनिटाइज कर स्कूल में आने वाले बच्चों का तापमान जांचा गया।सरकारी स्कूलों में भी एक बेंच पर एक ही बच्चा बैठाकर पढ़ाई कराई गई। बच्चे भी मास्क लगाकर स्कूलों में पहुंचे थे। स्कूलों के गेट पर बच्चों के हाथों को सैनिटाइज कराया गया।


पढ़ाई होने के बाद फिर कमरों को सैनिटाइज किया  शहर के सभी स्कूलों में अभी शाला प्रवेशोत्स्व का आयोजन किया जा रहा है आज शासकीय हेमू कालाणी प्राथमिक शाला अंग्रेजी माध्यम सिंधी केम्प तिल्दा में  शाला प्रवेशोत्सव कार्यक्रम का आयोजन किया गया नगरपालिका उपाध्यछ विकास सुखवानी राजा तथा अनिरुद्ध कुमार वर्मा द्वारा माँ सरस्वती का विधि विधान पूर्वक पूजन करके प्रारंभ किया गया बच्चो को तिलक लगाकर मिठाई खिलाकर बच्चो का स्वागत किया गया  और बाद में बच्चों को नई अध्यापकों के साथ परिचित करवाया गया। इस अवसर पर नगरपालिका उपाध्यछ विकास सुखवानी ने नवप्रवेशी बच्चो को ड्राइंग बुक -करसु राइटिंग बुक मास्क एवं सेनेटाइजर का वितरण कर  उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा कोरोना संबंधी जो भी हिदायतें दी गई हैं, उनका पूर्ण पालन किया जाएगा सुखवानी  ने  कहा कि स्कूलों के पुनः संचालन से शिक्षकों और विद्यार्थियों में खुशी देखी जा रही है।


स्कूल में संस्कार, कर्त्तव्यनिष्ठा और इमानदारी की शिक्षा मिलती है। यही शिक्षा बच्चों के भविष्य को उज्जवल बनाने के साथ ही शिखर तक पहुंचाती है।। इस दौरान स्कूल पहुंचे राजा  ने बताया कि कोरोना महामारी के चलते पिछले कई महीने से बच्चे घर पर ही बैठे थे। लेकिन अब स्कूल खुल जाने से बच्चों का ध्यान एक बार फिर से शिक्षा की तरफ होगा। अनिरुद्ध कुमार वर्मा सेवा निवृत प्रधान पाठक ने कहा की अच्छी शिक्षा बच्चों के भविष्य का निर्माण करने के साथ ही परिवार, शहर और देश-प्रदेश का नाम भी उज्जवल करती है शासकीय हेमू कालाणी प्राथमिक शाला के प्रधान पाठक मनबोधी साय ने कहा की कहा कि अंग्रेजी बेहद महत्वपूर्ण भाषा है। लोगों को जोड़ने वाली है। इस देश को विदेशियों से जोड़ती है और तिल्दा नेवरा  के बच्चे भी अगर अंग्रेजी में माहिर होंगे तो इनका भविष्य और अधिक उज्जवल होगा। शाला प्रवेशोत्सव कार्यक्रम में प्रमुख रूप से अमृत लाल खूंटे -श्रीमती जमुना देवी खूंटे -श्रीमती टेनु श्वरी  विजयवार -श्रीमती मनीषा गेंड्रे -श्रीमती रश्मि निषाद के साथ साथ पालक एवं गणमान्य नागरिक एवं स्कुल के कर्मचारी उपस्थित थे !