भिलाई : हाइटेक में तोड़फोड़ करने वालों के खिलाफ एपिडेमिक एक्ट के तहत कार्यवाही करने की मांग

भिलाई :  हाइटेक में तोड़फोड़ करने वालों के खिलाफ एपिडेमिक एक्ट के तहत कार्यवाही करने की मांग

आइएमए ने जिलाधीश से मिलकर सौंपा ज्ञापन

भिलाई। हाइटेक सुपरस्पेशालिटी हॉस्पिटल में 29 सितम्बर को मरीज के परिजनों एवं असामाजिक तत्वों द्वारा की गई तोड़फोड़, धक्का-मुक्की एवं धमकी देने के मामले को गंभीरता से लेते हुए इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने एपिडेमिक डिजीसेस (अमेंडमेंट) एक्ट, 2020 के तहत दोषियों पर कार्यवाही करने की मांग जिलाधीश से की है। आज आइएमए के प्रतिनिधिमंडल ने जिलाधीश को ज्ञापन सौंपते हुए कहा कि इस कठिन समय में अगर इस तरह से अस्पतालों को आतंकित किया जाता रहा तो रोगियों का इलाज करना बेहद मुश्किल हो जाएगा।

आइएमए भिलाई के अध्यक्ष डॉ अख्तर, राज्य आइएमए के सचिव डॉ रतन तिवारी, आइएमए सेन्ट्रल एक्जीक्यूटिव बॉडी के सदस्य डॉ अजय गोवर्धन, आइएमए के पूर्व अध्यक्ष डॉ एमके खण्डूजा, आइएमए के पूर्व राज्य अध्यक्ष डॉ अहमद हमदानी, वरिष्ठ चिकित्सक डॉ नचिकेत दीक्षित, डॉ राघवेन्द्र राय, डॉ ओमेश खुराना, डॉ प्रतीक कौशिक सहित प्रतिनिधिमंडल ने जिलाधीश डॉ सर्वेश्वर नरेन्द्र भूरे से मुलाकात की। 

उल्लेखनीय है कि अत्यंत गंभीर हालत में एक मरीज को 9 सितम्बर को वेन्टीलेटर पर ही हाइटेक लाया गया था। उसका सीटी स्कोर 22 था। सीटी स्कोर 19.5 को भी खतरनाक माना जाता है। 29 सितम्बर को मरीज की मौत हो गई। इस बीच उसे कई बार दिल का दौरा भी पड़ा। मरीज बार-बार स्वयं को नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर रहा था जिसकी जानकारी उसके परिजनों को भी थी। मरीज की मृत्यु होने के बाद एकाएक उसके परिजन भड़क गए और अस्पताल में जमकर तोड़फोड़ मचाते हुए चिकित्सकों, चिकित्साकर्मियों एवं शीर्ष प्रबंधन के साथ धक्का-मुक्की करते हुए उन्हें धमकियां दीं।