breaking news New

गर्मी की छुट्टी और परीक्षाएं एक साथ... शत-प्रतिशत उपस्थिति से स्कूलें गुलजार

 गर्मी की छुट्टी और परीक्षाएं एक साथ... शत-प्रतिशत उपस्थिति से स्कूलें गुलजार

राजकुमार मल

भाटापारा- ग्रीष्मकालीन अवकाश चालू। अवकाश के इन्हीं दिनों में कक्षा पहली से कक्षा आठवीं तक की परीक्षाएं शुरू हो चुकी हैं लेकिन छूट है, परीक्षा स्कूल या घर से देने की। दोनों ही स्थितियों में उत्तीर्ण करने के आदेश के बाद लगभग शत-प्रतिशत उपस्थिति से स्कूलें गुलजार हैं।

15 अप्रैल से ग्रीष्मकालीन अवकाश शुरू हो चुका है।  महामारी के दौर के बाद पूरी क्षमता से संचालित हो रहीं स्कूलों में शैक्षणिक गतिविधियां तेजी से सामान्य हो रही है लेकिन महामारी के समूल खत्म होने में  लगते समय और भीषण गर्मी को ध्यान में रखते हुए, परीक्षा, स्कूल या घर से देने के फैसले से बड़ी राहत मिली है। एक और बड़ी राहत, उत्तीर्ण करने के फैसले से भी मिली है। यही वजह है कि अवकाश के दिनों में भी शत-प्रतिशत उपस्थिति देखने में आ रही है।


अवकाश और परीक्षा

ग्रीष्मकालीन अवकाश 15 अप्रैल से चालू हो चुका है। अवकाश के दिनों के बीच की तारीखों में कक्षा पहली से कक्षा आठवीं तक की परीक्षाएं शुरू हो चुकीं हैं। यह परीक्षाएं 27 अप्रैल तक चलेंगी। संक्रमण के दौर के दो साल बाद शैक्षणिक गतिविधियां जिस गति से चल रहीं हैं, उसे देखते हुए परीक्षा का फैसला बेहद अहम माना जा रहा है।

दिलचस्प सुविधा

प्राथमिक और पूर्व माध्यमिक कक्षाओं की चालू हो चुकी परीक्षा



घर या स्कूल से देने  का फैसला छात्रों पर ही छोड़ दिया गया है।  इन दोनों ही स्थितियों में परीक्षा परिणाम, "उत्तीर्ण" के रूप में ही छात्रों तक पहुंचेगा। यही वजह है कि परीक्षा का पहला दिन शत-प्रतिशत उपस्थिति के रूप में नजर आया।

जरूरी इनकी अनुमति

 स्कूल से  या घर से ही परीक्षा देने की सुविधा के पूर्व शाला विकास समिति और पालक की लिखित अनुमति को अनिवार्य कर दिया गया है। यह इसलिए ताकि बाद में आने वाली संभावित प्रतिकूल स्थिति से बचा जा सके।

दैनिक उपस्थिति में छूट

ग्रीष्मकालीन अवकाश के दिनों में स्कूल स्टाफ की नियमित उपस्थिति अनिवार्य की जा चुकी है लेकिन छात्रों को आने या नहीं आने की छूट होगी। इसके बाद अवकाश का पहला दिन शत-प्रतिशत उपस्थिति के रूप में दिखाई दिया। इसे भी शैक्षणिक गतिविधियों के संचालन में अहम माना गया।

शत-प्रतिशत उपस्थिति



ऑफलाइन मोड में हो रही प्राथमिक और पूर्व माध्यमिक परीक्षाओं के लिए आदेशानुसार अतिरिक्त सुविधाएं दी जा रही है। इसकी वजह से शत-प्रतिशत उपस्थिति है।

- के के यदु, विकास खंड शिक्षा अधिकारी, भाटापारा