breaking news New

राज्यपाल को नहीं मिली सरकारी जहाज की अनुमति , गवर्नर और महा विकास अघाडी सरकार के बीच रिश्ते काफी बिगड़े

 राज्यपाल को नहीं मिली सरकारी जहाज की अनुमति , गवर्नर और महा विकास अघाडी सरकार के बीच रिश्ते काफी बिगड़े

नई दिल्ली: महाराष्ट्र के  गवर्नर  भगत सिंह कोश्यारी  और महा विकास अघाडी सरकार के बीच रिश्ते काफी  बिगड़ गए हैं।  महाराष्ट्र सरकार ने राज्यपाल  को सरकारी जहाज इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं दी।  जिसके बाद गवर्नर कोश्यारी को सरकारी जहाज से उतरना पड़ा।  गवर्नर के लिए स्पाइसजेट में बुकिंग करानी पड़ी। 

आईएएस अकैडमी में होने वाले कार्यक्रम में भाग लेने के लिए  गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी  को मसूरी   जाना था. प्रोटोकॉल के तहत इसके लिए उन्हें सरकारी जहाज से जाना था. लेकिन मुख्यमंत्री की तरफ से इजाजत न मिलने के कारण राज्यपाल कोश्यारी फ्लाइट में बैठने के बाद भी नीचे उतरना पड़ा. इसके बाद उन्होंने स्पाइसजेट की 12:30 बजे की फ्लाइट में सीट बुक कराई. .

 महाराष्ट्र सरकार और राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के बीच पालघर साधुओं की हत्या के बाद से ही तनाव जारी है. राज्यपाल कोश्यारी की सक्रियता से शिवसेना ने उस समय भी नाराजगी जाहिर की थी. बाद में यह तल्खी तब और बढ़ गई जब राज्यपाल और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे  के बीच कोरोना के चलते बंद मंदिरों को खोलने पर टकराव हुआ. कोश्यारी ने उद्धव को हिंदुत्व भुलाने का आरोप लगाते हुए पत्र लिखा था. इस पत्र को लेकर शिवसेना ने नाराजगी जाहिर की थी. 

महाराष्ट्र में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी और महा विकास अघाडी सरकार के रिश्ते और बिगड़ने का ताजा मामला विधान परिषद के लिए 12 नामों को मंजूरी न दिए जाने से जुड़ा है. महाराष्ट्र सरकार उसके द्वारा राज्यपाल को भेजे गए 12 नामों को मंजूरी न दिए जाने के बाद नाराज है. हाल ही में खबर आई थी कि अघाडी सरकार कोश्यारी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई कर सकती है.